ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडउत्तराखंड: चमोली जैसी आपदा का उत्तरकाशी में खतरा, मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने से खतरे में ग्रामीण 

उत्तराखंड: चमोली जैसी आपदा का उत्तरकाशी में खतरा, मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने से खतरे में ग्रामीण 

मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस -2  की उत्तरकाशी से धरासू पॉवर हाउस तक बनी  सुरंग में लीकेज आ गया है। जिससे बड़ी मात्रा में पानी निकल रहा है। इससे  मरगांव व चमियारी गांव  के...

मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने के बाद एकत्रित ग्रामीण।
1/ 2मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने के बाद एकत्रित ग्रामीण।
मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने से के बाद पानी का रिसाव।
2/ 2मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस टू की सुरंग लीक होने से के बाद पानी का रिसाव।
Himanshu Kumar Lallहिन्दुस्तान टीम, चिन्यालीसौड़Fri, 28 May 2021 11:25 AM
ऐप पर पढ़ें

मनेरी भाली जल विद्युत परियोजना फेस -2  की उत्तरकाशी से धरासू पॉवर हाउस तक बनी  सुरंग में लीकेज आ गया है। जिससे बड़ी मात्रा में पानी निकल रहा है। इससे  मरगांव व चमियारी गांव  के ग्रामीण दहशत में है।  ग्रामीणों ने इसकी सूचना जलविद्युत निगम के अधिकारियों को दी है।  उत्तराखंड जल विद्युत नियम की ओर से बनाई गई  304 मेगावाट की मनेरी भाली परियोजना  फेस 2 में  उत्तरकाशी जोशियाड़ा बैराज से धरासू पावर हाऊस तक बनी  सुरंग के बीच मे मरगांव के पास गुरुवार को सुबह दस बजे अचानक  लीकेज हो गया और भारी मात्रा में पानी बाहर बहने लगा। देखते ही देखते पानी बढ़ता गया। इससे आसपास के खेतों में नुकसान के साथ ही दरारे आने लग गई।  जिससे मरगांव के ग्रामीण दहसत में आ गये। ग्रामीण मौके पर गए और वीडियो बनाकर  जानकारी जल विद्युत निगम के अधिकारियों व जिलाधिकारी को  दी।

ग्राम प्रधान सुरेन्द्र पाल ने बताया कि गुरुवार सुबह से मर गांव के नीचे मनेरी भाली बांध की सुरंग से हो रहे जल रिसाव से मर गांव व चमियारी की खेती में जगह जगह दरार पड़नी शुरू हो गई है। यदि इसकी जल्दी  मरम्मत नही की गई तो लगातार भूस्खलन हो सकता है जिससे  चमियारी गांव को  खतरा हो सकता है। जल विधुत निगम के सहायक अभियंता धीरज हिमानी ने बताया कि धरासू पॉवर हाउस की इस सुरंग में 2007 में भी जल रिसाव हुआ था बीभाग द्वारा टेंडर निकल दिया गया है एक सप्ताह के अन्दर सुरंग के सुरक्षात्मक कार्य शुरू करवा दिए जाएंगे।

epaper