ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडजोशीमठ के लिए केंद्र सरकार से राहत; 17 करोड़ बजट को दी मंजूरी, होगा यह काम

जोशीमठ के लिए केंद्र सरकार से राहत; 17 करोड़ बजट को दी मंजूरी, होगा यह काम

केंद्र सरकार ने भूधंसाव ग्रस्त जोशीमठ के लिए 1658.17 करोड़ रू की रिकवरी और रिकंसट्रक्शन योजना को मंजूरी दे दी है। बीते महीनों शहर के घरों में दरारें आने के बाद से लोगों की चिंताएं बढ़ गई थीं।

जोशीमठ के लिए केंद्र सरकार से राहत; 17 करोड़ बजट को दी मंजूरी, होगा यह काम
Mohammad Azamभाषा,जोशीमठThu, 30 Nov 2023 10:04 PM
ऐप पर पढ़ें

जोशीमठ में आई दरार से विस्थापित लोगों के लिए राहतभरी खबर है। केंद्र सरकार ने जोशीमठ के लिए एक बड़ा तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने भूधंसाव ग्रस्त जोशीमठ के लिए 1658.17 करोड़ रू की रिकवरी और रिकंसट्रक्शन योजना को मंजूरी दे दी है। यहां मिली जानकारी के अनुसार, केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति ने आपदाग्रस्त जोशीमठ के लिए 1658.17 करोड़ रू की रिकवरी और रिकंस्ट्रक्शन योजना को मंजूरी दे दी है। अब इस जगह पर दोबारा से काम करने के लिए बजट जारी किया गया है।

योजना के तहत राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया कोष (एनडीआरएफ) की रिकवरी एवं रिकंस्ट्रक्शन विंडो से 1079.96 करोड़ रू की केंद्रीय सहायता दी जाएगी जबकि राज्य सरकार राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) से 126.41 करोड़ रू और राज्य के बजट से 451.80 करोड़ रू देगी। इसमें पुनर्वास के लिए 91.82 करोड़ रू भूमि अधिग्रहण की लागत भी शामिल है ।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने योजना की स्वीकृति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री का आभार प्रकट किया है। इस साल जनवरी में जोशीमठ में भूधंसाव की समस्या सामने आयी थी जिसके कारण जमीन और वहां बने घरों में दरारें आ गयी थीं। इसके कारण शहर के बीस से ज्यादा घर खतरे में आ गए थे। मामला सामने आने के बाद वहां रह रहे लोगों की सुरक्षा के लिए उन्हें राहत शिविरों में विस्थापित कर दिया गया।

बीते महीनों जोशीमठ के कुछ घरों में अचानक से दरारें आने लगी थीं। एक समय यह मुद्दा पूरे देश के लिए चिंता का विषय बन गया था। अब लोगों को केंद्र सरकार की तरफ से राहत का ऐलान किया गया है। यहां रिकन्स्ट्रक्शन के लिए सरकार ने लगभग 17 सौ करोड़ रुपए की योजना को मंजूरी दे दी है।  इस योजना से जोशीमठ के लोगों को राहत मिलने के आसार हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें