DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › ATM कार्ड बदलकर खातों से ऐसे उड़ाते थे रुपये,पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह के तीन अनपढ़ युवकों को पहुंचाया जेल 
उत्तराखंड

ATM कार्ड बदलकर खातों से ऐसे उड़ाते थे रुपये,पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह के तीन अनपढ़ युवकों को पहुंचाया जेल 

हिन्दुस्तान टीम, ऋषिकेश Published By: Himanshu Kumar Lall
Wed, 04 Aug 2021 06:59 PM
ATM कार्ड बदलकर खातों से ऐसे उड़ाते थे रुपये,पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह के तीन अनपढ़ युवकों को पहुंचाया जेल 

ऋषिकेश में लंबे समय बाद पुलिस को एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह को पकड़ने में सफलता मिली है। पुलिस ने एटीएम ठगी करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए तीनों आरोपी दिल्ली के रहने वाले हैं। पुलिस के मुताबिक पूछताछ में आरोपियों ने ऋषिकेश के अलावा रुड़की, हरिद्वार, सहारनपुर, हल्द्वानी, नैनीताल में भी ठगी की वारदातों को अंजाम देने की बात कबूली है। कोतवाली पुलिस के मुताबिक एक के बाद एक एटीएम कार्ड बदलकर ठगी के मामले आने के बाद कोतवाली पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम छानबीन में जुट गई।

टीम ने छानबीन के बाद मुखबिर की सूचना पर ऋषिकेश की सीमा के पास एक होटल के बाहर कार के साथ तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया। इन्होंने अपनी पहचान शाहनवाज पुत्र सज्जन निवासी 28/1, गली नंबर 1, कृष्णानगर, दिल्ली, मोहम्मद शादीन पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी ए-87 गली नंबर 1 कबीर नगर, दिल्ली, सज्जन पुत्र इस्माइल निवासी मकान नंबर 11 गली नंबर 5 कांति नगर दिल्ली के रूप में कराई है। कोतवाल शिशुपाल सिंह नेगी ने बताया कि आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

ये लोग हुए ठगी के शिकार
पुलिस के अनुसार आरोपियों ने ओमप्रकाश रयाल निवासी नसोगी, मुंडाला, टिहरी गढ़वाल के खाते से 24,225 रुपये, रामचंद्र यादव निवासी भल्ला, श्यापमुर के खाते से 3 हजार रुपये और साधना निवासी इंदिरा नगर, ऋषिकेश की पुत्री का एटीएम कार्ड बदलकर खाते से 30,500 की रकम उड़ा ली। इसके अलावा शातिर ठगों ने दो अगस्त को विमला कंडारी निवासी श्यामपुर के खाते से 14000 की रकम, सत्यनारायण निवासी डेक्कन वैली, बदरीनाथ रोड, टिहरी गढ़वाल के खाते से 25 हजार की रकम निकाल ली थी।

111 एटीएम कार्ड बरामद
पुलिस ने बताया कि ये लोग एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने की वारदात बीते तीन साल से कर रहे थे। आरोपियों के कब्जे से 111 एटीएम कार्ड पुलिस ने बरामद किए हैं। उनके पास से 70 हजार की नकदी, एक सोने की चेन, कार, किराए पर लिए दो स्कूटर बरामद हुए हैं।

तीनों आरोपी अनपढ़
पुलिस पूछताछ में आारोपियों ने बताया वे तीनों आपस में रिश्तेदार है। शाहनबाज मोबाइल एसेसरीज बेचने का काम करता है, जबकि सज्जन कबाड़ी है, शादीन करोलबाग में जींस बेचता है। तीनों अनपढ़ हैं। उन्होंने बताया कि एंकात स्थानों पर लगे एटीमए बूथ में जैसे ही कोई बुजुर्ग या महिला उपभोक्ता दिखता है, पैसे निकालने में मदद करने के बहाने उक्त व्यक्ति का एटीएम कार्ड बदल लेते थे। बाद में उन्हीं एटीएम कार्ड की मदद से पैसे निकाल लेते थे। गिरोह के सदस्य इतने शातिर है कि वे दिल्ली को छोड़ दूसरे राज्य में पहुंचकर एटीएम ठगी की वारदात को अंजाम देते थे। अपनी पहचान छुपाने के लिए लगातार कपड़े एवं स्कूटर आपस में बदलते रहते थे।

 

संबंधित खबरें