DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेरोजगारों ने क्यों जलाईं अपनी-अपनी डिग्रियों की प्रतियां? जानिए

बीपीएड-एमपीएड प्रशिक्षित बेरोजगारों ने मंगलवार को राज्य सरकार के खिलाफ आक्रोश जताते हुए अपनी डिग्रियों की प्रतियां जलाईं। लैंसडौन चौक पर प्रदर्शन के दौरान उन्होंने नारेबाजी की। इसके बाद अपनी डिग्रियों की प्रतियों को आग के हवाले किया। बीपीएड-एमपीएड प्रशिक्षित संगठन ने कहा कि सरकार बेरोजगारों की उपेक्षा कर रही है। राज्य में एनसीईआरटी नियमों की अवहेलना भी की जा रही है। प्रदेश उपाध्यक्ष हरेंद्र खत्री ने कहा कि जब तक सभी स्कूलों में पहली से दसवीं तक शारीरिक विषय की अनिवार्यता और शासकीय-अशासकीय इंटर कॉलेजों में व्यायाम प्रवक्ताओं की नियुक्ति नहीं हो जाती, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इस मौके पर प्रदेश प्रभारी अर्जुन लिंगवाल, सुमन सिंह नेगी,कमल रावत, विजय सेमवाल, प्रवीण चौधरी, सीमा, हिमांशु राजपूत,राजेंद्र सिंह, महेश पाल समेत कई युवा शामिल रहे।

डॉक्टरों ने की युवती की जांच
परेड ग्राउंड स्थित धरना स्थल पर बीपीएड एमपीएड प्रशिक्षित संगठन के बैनर तले आमरण अनशन पर बैठीं बेरोजगार युवती के स्वास्थ्य की जांच को मंगलवार को कोरोनेशन अस्पताल के डॉक्टर पहुंचे। यहां आंदोलनकारी युवती हंसा बिष्ट के स्वास्थ्य को जांचा गया। हंसा पिछले नौ दिनों से आमरण अनशन पर हैं। इससे पहले भी हंसा को तबीयत बिगड़ने पर चार दिन पहले दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BPeD and MPed unemployed trained youths burn degree copies