DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड: सवर्ण आरक्षण का मुद्दा भुनाएगी भाजपा

मोदी सरकार के गरीब सवर्णों को सरकारी नौकरी में 10% आरक्षण देने का बिल कानून की शक्ल में आने के बाद भाजपा लोकसभा चुनावों में इसे भुनाने जा रही है। हाईकमान ने सभी इकाइयों को जिम्मेदारी सौंप दी है। नई दिल्ली में हुई भाजपा की राष्ट्रीय कार्य परिषद में देशभर से आए कार्यकर्ताओं ने इस बिल के कानून बनने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का करतल ध्वनि से स्वागत कर आभार जताया। इस दौरान पार्टी नेताओं को हर राज्य में इसका प्रचार-प्रचार करने के निर्देश दिए गए। भाजपा आम चुनावों से पहले इसे बड़ी उपलब्धि के तौर पर मानकर चल रही है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी दो फरवरी को उत्तराखंड दौरे पर आ रहे हैं और लगभग छह घंटे तक बूथस्तर के कार्यकर्ताओं के बीच रहेंगे और उनमें भी इस बिल के कानून बनने के बाद नई जान फूंकेंगे। अब जैसे-जैसे लोकसभा चुनावों का बिगुल बजने के लिए वक्त नजदीक आ रहा है, भाजपा भी उसी के अनुरूप अपनी रणनीति को अंजाम देने में लगी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि गरीबों को आरक्षण के साथ ही उत्तराखंड में प्रत्येक परिवार को सरकार पांच लाख रुपये तक फ्री इलाज मुहैया करा रही है। यह भी अपने आप में बेमिसाल है। उन्होंने कहा, भाजपा 26 फरवरी को कमल ज्योति कार्यक्रम मनाएगी, जिसके तहत कई योजनाओं के लाभार्थियों के घरों में दीये जलाए जाएंगे। 


दो फरवरी को त्रिशक्ति सम्मेलन: लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा ने उत्तराखंड के लगभग 11,000 बूथों को मजबूती देने के लिए दो फरवरी को त्रिशक्ति सम्मेलन भी बुलाया है। इसके तहत राज्य के प्रत्येक बूथ के लिए बनाए गए अध्यक्ष, पालक और बीएलए-2 मौजूद रहेंगे। यही नहीं, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस सम्मेलन के जरिए कार्यकर्ताओं  में नई जान फूंकेंगे। शाह इस दौरान बूथवार वोटरों के रिकॉर्ड से भी वाकिफ होंगे।


तैयारी
11 फरवरी को समर्पण दिवस

भाजपा 11 फरवरी को समर्पण दिवस के रूप में मनाएगी। इस दिन पंडित दीन दयाल उपाध्याय का निर्वाण दिवस है और हरेक जिले में मंडल स्तर पर यह कार्यक्रम होगा। कार्यकर्ताओं से चेक के जरिए सहयोग राशि ली जाएगी।

 

दो मार्च को बाइक रैली
भाजपा दो मार्च में राज्यभर में में बाइक और स्कूटर रैली निकालने जा रही है। भारतीय जनता युवा मोर्चा को इसकी कमान सौंपी गई है, लेकिन इस रैली 
में पार्टी से बड़े से छोटे नेता भी हिस्सा लेंगे। इसके जरिए जन चेतना संदेश के साथ ही जनता तक भाजपा की उपलब्धियों को पहुंचाया जाएगा।


आर्थिक आरक्षण बिल का छह दिन में कानून बनना ऐतिहासिक है। दलितों और पिछड़े वर्ग के आरक्षण से छेड़छाड़ किए बगैर गरीब सवर्णों को जो तोहफा दिया गया, उससे भाजपा का सबका साथ सबका विकास के नारे का संकल्प भी पूरा हो गया है। 
अजय भट्ट, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा
 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bjp to make higher education an agenda in general election in uttarakhand