ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडउत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्ता पर बीजेपी दिग्गजों का मंथन! यह बन रहा प्लान

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्ता पर बीजेपी दिग्गजों का मंथन! यह बन रहा प्लान

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार के बीच मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का हैरान करने वाला बयान आया है। धामी ने कैबिनेट विस्तार की अटकलों पर लगाम लगाने वाला बयान दिया है। भाजपा बैठक से अटकलें तेज हुईं।

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्ता पर बीजेपी दिग्गजों का मंथन! यह बन रहा प्लान
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, लाइव हिन्दुस्तानFri, 30 Sep 2022 02:53 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में मंत्रिमंडल विस्तार के बीच मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का हैरान करने वाला बयान आया है। धामी ने कैबिनेट विस्तार की अटकलों पर लगाम लगाने वाला बयान दिया है। कहा कि फिलहाल अभी मंत्रिमंडल विस्तार की की कोई प्लान नहीं है। लेकिन, भाजपा प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को बीजेपी दिग्गजों की बैठक ने एक बार फिर राज्य में मंत्रिमंडल फेरबदल की अटकलों को हवा दे दी।

पार्टी कार्यालय में राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष, प्रदेश सह प्रभारी रेखा वर्मा आदि दिग्गज नेताओं की मौजूदगी के बीच कई अहम मुद्दों पर मंथन हुआ। प्रदेश में जिस तरीके से कैबिनेट विस्तार को लेकर सुगबुगाहट है, उसको लेकर भी इस बैठक को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

केबिनेट में जगह पाने वाली कई विधायक हैं, जो आज बीजेपी दफ्तर में सुबह से ही डेरा जमाए हुए हैं। बीजेपी की बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि शीर्ष नेतृत्व जल्द ही उत्तराखंड को लेकर कोई बड़ा फैसला ले सकता है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि धामी सरकार की कैबिनेट में फेरबदल तो होना है, लेकिन इसमें वक्त लगेगा।

विधानसभा बैकडोर भर्ती के बाद भाजपा की किरकिरी होने पर धामी मंत्रिमंडल में बदलाव होना तय माना जा रहा है। राजनीतिक सूत्रों की मानें तो दो कैबिनेट मंत्रियों को ड्रॉप करने की अटकलें काफी दिनों से चल रही हैं। अगर ऐसा होता है तो मुख्यमंत्री धामी की हामी के बाद युवा नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, महेंद्र भट्ट का कहना है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के साथ ही पार्टी के अन्य नेताओं का दिल्ली दौरा सामान्य था। उत्तराखंड में मंत्रिमंडल में बदलाव या फेरबदल से इसका कोई संबंध नहीं था औ न ही दौरे को इससे जोड़ कर देखा जाना चाहिए।मुख्यमंत्री धामी, केंद्रीय पर्यटन मंत्री से मिलने पहुंचे थे, ताकि राज्य में पर्यटन से जुड़ी विकास की योजनाओं को गति मिल सके।

जबकि, मुझे लोकसभा अध्यक्ष से मुलाकात करनी थी। भट्ट का कहना है कि कैबिनेट मंत्री और अन्य विधायक भी अपने कार्यक्रमों की वजह से दिल्ली गए थे। भट्टा का साफतौर से कहना है कि सीएम धामी और कैबिनेट मंत्रियों के दौरे को बिना कोई ठोस वजह के अनावश्यक राजनीतिक निहितार्थ नहीं निकाले जाने चाहिए। 

सीएम धामी के दिल्ली से लौटे ही अटकलों का बाजार गर्म 
सीएम पुष्कर सिंह धामी के मंगलवार को अचानक दिल्ली दौर से मंत्रिमंडल विस्तार के अटकलों का बाजार गर्म हो गया था। पार्टी के कई शीर्ष नेताओं के साथ महाराष्ट्र के राज्यपाल और पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी से भी उन्होंने लंबी बैठक की। धामी के बाद दो कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत और सतपाल महाराज की दिल्ली में मौजदूगी से सियासी तापमान और बढ़ गया था। इसके साथ ही, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट की दिल्ली में मौजूदगी के कई मायने निकाले जा रहे थे।   

कैबिनेट मंत्री महाराज नहीं लौटे, सोशल मीडिया पर खूब चर्चाएं
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के नागपुर जाने की चर्चाएं चलती रहीं। हालांकि उनके पीआरओ ने बताया कि महाराज पूना गए हैं। वहां उन्हें एक निजी कार्यक्रम में शामिल होना है। सोशल मीडिया पर महाराज के इस दौरे की खासी चर्चा है और इसे आरएसएस मुख्यालय नागपुर से जोड़ा जा रहा है। जबकि, गुरुवार को ही सीएम धामी और कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत दो दिन बाद दिल्ली से उत्तराखंड वापस लौट आए थे।

भाजपा ने अंकिता भंडारी को दी श्रद्धांजलि 
बीजेपी प्रदेश कार्यालय में अंकिता भंडारी को श्रद्धांजलि दी गई। भाजपा ने सभी कार्यक्रमों को रद्द करते हुए अंकिता को पार्टी कार्यालय में श्रद्धांजलि अर्पित की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का कहना है कि उत्तराखंड सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी। कहा कि सीएम धामी के निर्देश के बाद अंकिता हत्याकांड के लिए एसआईटी का गठन किया जा चुका है, और पूरी पारदर्शिता के साथ निष्पक्ष जांच की जाएगी।   

 


 

epaper