DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘बर्ड वाचिंग’ से कैसे होगी आमदनी ? पढ़िए पूरी खबर

लैंसडौन वन प्रभाग की ओर से आयोजित तीन दिवसीय बर्ड वाचिंग फेस्टिवल का शुभारम्भ प्रदेश के काबीना मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने किया। उन्होंने कहा कि पहली बार वन विभाग द्वारा इस अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के आयोजन में सीधी भूमिका निभायी जा रही है, जो मील का पत्थर साबित होगी। इस दौरान काबीना मंत्री ने पक्षियों पर लगाई गई एक प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। शुक्रवार को सनेह क्षेत्र में फेस्टिवल का शुभारम्भ करते हुए वन मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने कहा कि कोटद्वार क्षेत्र में बर्ड वाचिंग पर्यटन व रोजगार का बेहतर जरिया बनेगा। कहा कि कोटद्वार क्षेत्र की इस छिपी हुयी नैसर्गिक सुन्दरता से साक्षात्कार करें जिससे आज तक काफी लोग अंजान थे। यहां इको टूरिज्म की अपार संभावनाएं हैं लेकिन हम प्रकृति के जितना नजदीक हैं उतनी ही दूरियां भी बनी हैं। डा. रावत ने कहा कि निकट भविष्य में कोटद्वार क्षेत्र में बर्ड वाचिंग पर्यटन का बड़ा आधार बनेगा और बर्ड फैस्टिवल से पर्यटन के द्वार खुलेंगे। उन्होंने अधिकारियों की पीठ थपथपाते हुए कहा कि हमारे विभाग द्वारा देश-विदेश से आने वाले पक्षी विशेषज्ञों व पक्षी प्रेमियों के प्रवास की समस्त व्यवस्थायें की गयी हैं, इस अवधि में पक्षियों के करीब से दीदार हो सकेंगे। इस मौके पर डीएफओ वैभव कुमार सिंह, डीएफओ कालागढ़ एके त्रिपाठी, एसडीओ गिरीश बेलवाल, एस के दुबे, हंस फाउंडेशन के प्रभारी पदमेन्द्र बिष्ट, पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुमन कोटनाला, पूर्व पालिकध्यक्ष रश्मि राणा, शैवाल रावत, राजीव बिष्ट, संदीप कंडवाल, आशीष डबराल मौजूद थे। 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bird watching would be useful for employment generation in uttarakhand