DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › बदरीनाथ-केदारनाथ सहित चारधाम में श्रद्धालुओं की संख्या एक लाख के पार, जानिए कहां होगा रजिस्ट्रेशन
उत्तराखंड

बदरीनाथ-केदारनाथ सहित चारधाम में श्रद्धालुओं की संख्या एक लाख के पार, जानिए कहां होगा रजिस्ट्रेशन

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Wed, 13 Oct 2021 08:47 PM
बदरीनाथ-केदारनाथ सहित चारधाम में श्रद्धालुओं की संख्या एक लाख के पार, जानिए कहां होगा रजिस्ट्रेशन

उत्तराखंड में चार धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या एक लाख का आंकड़ा पार कर गई है। 18 सितंबर से 13 अक्तूबर के बीच श्रद्धालुओं की ये संख्या रही है।गुरुवार को बदरीनाथ धाम में 2418, केदारनाथ धाम में 4208, गंगोत्री में 466, यमुनोत्री में 784 मिला कर कुल 7876 श्रद्धालु दर्शन को पहुंचे। कुल मिला कर ये संख्या एक लाख तीन हजार आठ सौ साठ पहुंच गई है। एक से 12 अक्तूबर के बीच हेलीकॉप्टर से केदारनाथ पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 7339 पहुंच गई है।  चारधाम यात्रा के लिए अब http:// smartcitydehradun.uk.gov.in में तीर्थयात्री सीधे पंजीकरण करवा सकते हैं। 

केदारनाथ यात्रा में देश के विभिन्न राज्यों से यात्रियों के आने का सिलसिला जारी है। इससे स्थानीय कारोबारियों को राहत मिली है। साथ ही सरकार की ओर से दी जा रही सुविधाओं की लागों ने सराहना की है। यात्री गर्भ गृह की परिक्रमा कर बाबा केदार के करीब से दर्शन कर अभिभूत हो रहे हैं। देवस्थानम बोर्ड के सदस्य एवं वरिष्ठ तीर्थपुरोहित श्रीनिवास पोस्ती का कहना है कि लगातार यात्रियों के पहुंचने से स्थानीय कारोबार को राहत मिली है।

आए दिन बड़ी संख्या में यात्री चारधाम पहुंच रहे हैं। केदारनाथ में प्रतिदिन यात्रियों की संख्या सात हजार पार हो रही है। इससे क्षेत्र में उत्साह का माहौल है। यात्रा के पटरी पर लौटने से क्षेत्रीय लोगों की आर्थिकी में सुधार हो रहा है। बीते दो साल से लोग यात्रा बंद होने से परेशान थे। वर्तमान में यात्री गर्भ गृह में जाकर बाबा केदार के करीब से दर्शन कर आशीर्वाद ले रहे हैं। साथ ही उन्हें परिक्रमा करने का भी अवसर मिल रहा है।

बदरी-केदार के दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या 72437 पहुंची
उत्तराखंड में स्थित चारधाम यात्रा के लिए यात्रियों की निर्धारित संख्या की बाध्यता खत्म होने के बाद अब चारों धामों में दर्शनों के लिए बड़ी संख्या में यात्री पहुंचने लगे हैं। अकेले बदरीनाथ और केदारनाथ में 12 अक्तूबर तक 72437 तीर्थयात्रियों ने दर्शन कर लिए हैं। इनमें केदारनाथ के लिए यात्रियों में अलग ही उत्साह देखा जा रहा है। 

वहीं हेली सेवा से केदारनाथ जाने वाले यात्रियों की संख्या भी बढ़ने लगी है। हाईकोर्ट के निर्णय के बाद 18 सितम्बर से शुरू हुई यात्रा के बाद दोनों धामों में यात्रियों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी होने लगी है। सरकार द्वारा यात्रियों की संख्या की बाध्यता खत्म करने के बाद तो अब हर दिन बड़ी संख्या में यात्री केदारनाथ और बदरीनाथ पहुंचे रहे हैं। 

18 सितम्बर से 12 अक्तूबर तक बदरीनाथ धाम में 29409 एवं केदारनाथ धाम में 43028 तीर्थयात्रियों ने दर्शन किए हैं। केदारनाथ में बदरीनाथ से ज्यादा यात्री दर्शनों को पहुंच रहे हैं। हेलीकॉप्टर से भी यात्रियों में केदारनाथ जाने का क्रेज बढ़ रहा है। दोनों धामों में अब तक 72437 तीर्थयात्री दर्शन कर चुके हैं।

गंगोत्री-यमुनोत्री में बढ़ा यात्रियों का ग्राफ, कारोबार बढ़ा
चारधाम यात्रा पर यात्रियों का ग्राफ दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में यात्रियों की तादाद बढ़ने से पर्यटन कारोबार ने भी गति पकड़ी है। एक सप्ताह के भीतर ही होटलों में पहले के मुकाबले 30 से 40 फीसदी बुकिंग ज्यादा आ रही है। इससे पर्यटन कारोबारियों ने राहत की सांस ली है। वहीं गंगोत्री धाम की तुलना में यमुनोत्री धाम में यात्रियों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है।

हाईकोर्ट के आदेश पर चारधाम में सीमित यात्रियों की संख्या की बाध्यता समाप्त किए जाने से धामों में तीर्थयात्रियों की चहलकदमी बढ़ी है। हर दिन धामों में यात्रियों के पहुंचने का रिकार्ड बनता जा रहा है। बीते मंगलवार को गंगोत्री धाम में सबसे ज्यादा 670 और यमुनोत्री धाम में 887 तीर्थयात्रियों ने मां गंगा व यमुना के दर्शन किए।

इस तरह से दोनों धाम में कुल 1557 यात्री दर्शन के लिए पहुंचे। यमुनोत्री धाम में शुरूआत में जहां कम संख्या में तीर्थयात्री मां यमुना के दर्शन को पहुंच रहे थे, वहीं अब सबसे ज्यादा यात्री दर्शन के लिए जा रहे हैं। जबकि गंगोत्री धाम में शुरूआत में अधिक यात्री पहुंचे, लेकिन अब यहां यमुनोत्री धाम की तुलना में कम यात्री पहुंच रहे हैं। हालांकि हाईकोर्ट के निर्देश के बाद दोनों धाम में पहले से ज्यादा यात्रियों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।

गत सोमवार को गंगोत्री धाम में 458 और यमुनोत्री धाम में 651 यात्री पहुंचे। यात्रा के शुरूआत में गंगोत्री धाम में 600 और यमुनोत्री धाम में 400 यात्रियों को ही दर्शन की अनुमति थी। हाईकोर्ट के आदेश के बाद पुन: इस बाध्यता के खत्म होते ही तुलनात्मक रूप से यमुनोत्री धाम में यात्रियों के पहुंचने का सिलसिला तेजी से बढ़ा है।

वहीं, धामों में यात्रियों का ग्राफ बढ़ने के साथ ही पर्यटन कारोबार ने भी रफ्तार पकड़ी है। होटल कारोबारियों ने मानें तो पर्यटन कारोबार यात्रा के शुरूआती दौर से लगभग 40 फीसदी ज्यादा हुआ है। होटलों को ठीक ठाक बुकिंग मिल पा रही है। यात्रा पड़ावों पर भी भीड़ भाड़ के चलते लंबे समय से ठप पड़ा कारोबार दीपावली तक चरम पर रहेगा।

पिछले एक सप्ताह से पर्यटन कारोबार अच्छी स्थिति में है। यात्रा के शुरूआती दौर की तुलना में पर्यटन कारोबार में लगभग 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
शैलेंद्र मटूड़ा, अध्यक्ष, होटल एसोसिएशन उत्तरकाशी

1250 यात्रियों ने गंगोत्री-यमुनोत्री के दर्शन
गंगोत्री धाम में बुधवार को शाम 4 बजे तक 466 तीर्थयात्री मां गंगा के दर्शन को पहुंचे। वहीं यमुनोत्री धाम में 784 यात्री मां यमुना के दर्शन करके लोटे। दोनों धाम में कुल 1250 यात्रियों ने दर्शन किए। देर सांय तक यात्रियों की संख्या में और बढ़ोत्तरी की संभावना है।

संबंधित खबरें