anti encroachment drive conducted amid protest by residents in mussoorie - मसूरी : अतिक्रमण के खिलाफ गरजी जेसीबी,देखें VIDEO DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मसूरी : अतिक्रमण के खिलाफ गरजी जेसीबी,देखें VIDEO

जिला प्रशासन के नेतृत्व में एक बार फिर से अतिक्रमण के खिलाफ ध्वस्तीकरण की कार्यवाही शुरू की गयी,अतिक्रमण हटाओं अभियान इस बार भारी पुलिस बल व पीएसी की मौजूदगी में शुरू किया गया,मूसरी झील से शुरू किये गये अतिक्रमण हटाओ अभियान का ग्रामीणों ने पहले तो जोरदार विरोध किया,लेकिन बाद में एसडीएम के समझाने पर वे खुद ही अतिक्रमण हटाने के लिए राजी हो गये,हंलाकि इस दौरान ग्रामीणों ने चेतावनी भी दी है कि अगर मसूरी से अवैध अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो वह आंदोलन करेंगे व खुद पुनः दुकाने बनायेंगे। सोमवार को एडीएम बीर सिंह बुधियाल एवं एसडीएम गोपाल राम बिनवाल के नेतृत्व में मसूरी देहरादून मार्ग पर मसूरीझील के समीप जेसीबी गरजी। इस दौरान अतिक्रणम हटाने गये प्रशासन के दल को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा व तीखीनोक झोंक भी हुई,लंबी बहस के बाद ग्रामीण शांत हुए,लेकिन विरोध के बावजुद भी तेवर ढीले नहीं पडे उन्होंने चेतावनी दी कि यदि मसूरी से भी अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो वह पुनः हटाये गये स्थानों पर दुकाने बनायेंगे व विरोध में आंदोलन करेंगे। ग्रामीणों ने अतिक्रमण आरोप लगाया कि अतिक्रमण हटाने में पक्षपात किया जा रहा है,जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

 


अतिक्रमण हटाओ अभियान में प्रभारी निरीक्षक भावना कैंथोला के नेतृत्व में पुलिस, पीएसी व फायर सर्विस के जवान मौजूद रहे। जिन्होंने उत्तेजित ग्रामीणों को समझाने का भरसक प्रयास किया व अंत में ग्रामीणों के मानने पर उन्होंने खुद अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया व कुछ स्थानों पर जेसीबी चलाई गई। इस मौके पर भटटा गांव निवासी अशीष रावत,राकेश रावत, कुलदीप जदवाण, आनंद रावत ने प्रशासन की इस कार्रवाई का विरोध किया व कहा कि यहां पर स्थानीय ग्रामीणों ने रोजगार के लिए अपनी दुकानें बनाई हैं जो करीब साठ साल पुरानी हैं,लेकिन प्रशासन इन्हें तोड़ कर उनके परिवारों की रोजी रोटी छीन रहा है,जिसे बर्दास्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी जब अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया तब भी ग्रामीणों ने अपनी दुकाने खुद तोड़ी व तब भी यह कहा गया था कि मसूरी से भी अतिक्रमण हटाया जायेगा लेकिन ऐसा नहीं किया गया केवल ग्रामीणों की दुकाने तोड़ी गयी। ग्रामीणों ने कहा कि अगर इस बार भी मसूरी से स्थाई अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो वह जोरदार विरोध करने के साथ आंदोलन करेंगे। क्यों कि ये दुकाने ग्रामीणों ने अपनी जमीनों पर बनाई हैं। जिन्हें रोड एक्ट के तहत तोड़ा जा रहा है इसमें लोगों की जमा पूंजी लगी है और अब उनकी मेहनत व पैसे को बर्बाद किया जा रहा है। 


वहीं इस मौके पर एसडीएम गोपाल राम बिनवाल ने बताया कि मसूरी देहरादून राष्ट्रीय राज मार्ग पर कई स्थानों पर सरकारी भूमि पर अवैध अतिक्रमण किये गये थे एमडीडीए द्वारा इनके खिलाफ ध्वस्तीकरण के आदेश पारित किये जा चूके है। सरकारी भूमि पर जो दस बारह अवैध अतिक्रमण चिंहित किये गये हैं,उनको ध्वस्त करने की कार्यवाही आज से शुरू की गयी है। बताया कि  कुल 109 अतिक्रमण चिन्हित किए गये हैं। कहा कि हाइवे पर यह कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। अतिक्रमण हटाओ अभियान में एमडीडीए, लोकनिर्माण विभाग, राजस्व विभाग, जल संस्थान, नगर पालिका के अधिकारी भी मौजूद रहे। इस मौके पर नगर पालिका अधिशासी अधिकारी एमएल शाह, जल संस्थान के अधिशासी अभियंता एसके सैनी, सहायक अभियंता टीएस रावत,नायब तहसीलदार पीएस तोमर,सुधीर गुप्ता,पंकज अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी व ग्रामीण मौजूद रहे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:anti encroachment drive conducted amid protest by residents in mussoorie