ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडउत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों का ऐलान, 2 सीटों पर किसे मिला मौका

उत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों का ऐलान, 2 सीटों पर किसे मिला मौका

भाजपा ने आज तीन राज्यों में विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया। इसमें उत्तराखंड की दो विधानसभा सीटों पर भी प्रत्याशियों का ऐलान किया है। आइये जानते हैं किसे मौका मिला है।

उत्तराखंड विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशियों का ऐलान, 2 सीटों पर किसे मिला मौका
Mohammad Azamएएनआई,देहरादूनThu, 13 Jun 2024 10:51 PM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा ने आज तीन राज्यों में विधानसभा उपचुनावों के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया। इसमें उत्तराखंड की दो विधानसभा सीटों पर भी प्रत्याशियों का ऐलान किया है। भाजपा ने बद्रीनाथ विधानसभा सीट से राजेंद्र भंडारी और मंगलौर विधानसभा सीट से करतार सिंह भड़ाना को टिकट दिया है। इसके साथ ही भाजपा ने मध्य प्रदेश की एक सीट और हिमाचल प्रदेश की तीन विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों का ऐलान किया है।

गुरुवार शाम को भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने लिस्ट जारी करते हुए बताया कि अलग-अलग राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा ने कुछ नामों की स्वीकृति प्रदान की है। इसमें हिमाचल प्रदेश की तीन, मध्य प्रदेश की एक और उत्तराखंड की दो विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया गया है।

हाल ही में लोकसभा चुनावों के नतीजे आए थे। इन चुनावों के कुछ दिनों के बाद ही भाजपा ने दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए लिस्ट जारी कर दी है। उपचुनाव में भाजपा ने बद्रीनाथ सीट से राजेंद्र भंडारी पर दांव लगाया है। इसके अलावा मंगलौर विधानसभा सीट से भाजपा ने करतार सिंह भड़ाना को मैदान में उतारा है।

कैसा रहा लोकसभा चुनावों का हाल
हाल ही में आए लोकसभा चुनावों में भाजपा ने उत्तराखंड में एक बार फिर से कमाल कर दिया। बीजेपी ने प्रदेश की पांचों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करते हुए एक बार फिर से क्लीन स्वीप कर दिया। हालांकि, इन चुनावों में भाजपा के लिए एक टेंशन वाली बात भी सामने आई है। 2024 लोकसभा चुनावों में उत्तराखंड में भाजपा के लिए चिंता करने जैसी स्थिति बन गई है। क्योंकि पिछले चुनावों के मुकाबाले भाजपा के वोट प्रतिशत में कमी देखने को मिली है। ऐसे में उत्तराखंड में जीत के बावजूद भाजपा के लिए चिंता की बात बन गई है।

Advertisement