DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने विधानसभा कूच कर जताई नाराजगी

लंबित मांगों पर नाराज आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने रैली की शक्ल में विधानसभा कूच किया। महिला पुलिस कर्मियों के रोके जाने पर वह दया पैलेस चौक पर लगे बेरीकेडिंग को पार कर आगे बढ़ गई, हालांकि आगे एक अन्य बेरीकेडिंग पर पुलिस ने उन्हें रोक दिया।  इस बीच पुलिस व कार्यकत्रियों के बीच धक्का मुक्की हुई।  यहीं कार्यकत्रियां धरने पर बैठ गई और अपनी मांगों को जोरशोर से उठाया ।  
उत्तरांचल आंगनवाडी कर्मचारी संघ की अगुवाई में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां धर्मपुर स्थित एलआईसी के मंडल कार्यलय के पार्क में एकत्रित हुई।  यहां पर सभा करने के बाद कार्यकत्रियां आगे बढ़ी।  पुलिस ने रिस्पना पुल से पहले बेरीकेडिंग पर उन्हें रोक दिया। कार्यकत्रियां धरने पर बैठ गई।  धरने को संबोधित करते हुए संगठन की प्रदेश महामंत्री सुशीला खत्री ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के जरिए प्रदेश में समेकित बाल विकास योजना का संचालन किया जा रहा है।  प्रदेश में कुल 14947 कार्यकत्रियां हैं। इस काम के अलावा  उन्हें समय समय पर बीएलओ, पल्स पोलियो, जनगणना, पशुगणना, स्वच्छ भारत मिशन आदि के काम की जिम्मेदारी भी दी जाती है।  इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्र व फील्ड दोनों को मिलाकर उन्हें आठ घंटे तक काम करना पड़ता है।  इसके बावजूद उनकी मांगों की सुध नहीं ली जा रही है।  लंबे समय से कार्यकत्रियां अपनी मांगों के लिए लड़ाई  लड़ रही हैं, लेकिन सरकार की ओर से कोरे आश्वासन ही दिए जाते रहे हैं। आक्रोशित कार्यकत्रियों ने कहा कि सरकार कब  उनकी सुनेगी।  उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के मानदेय में पचास फीसदी की बढ़ोत्तरी की है, उसके लिए वह पीएम मोदी का आभार जताते हैं।  राज्य सरकार को भी मानदेय में पचास फीसदी की बढ़ोत्तरी करनी चाहिए।  इस दौरान कार्यकत्रियों ने मौजूद अपर सिटी मजिस्ट्रेट लक्ष्मण चौहान से वार्ता की और सीएम से मिलने की बात कही।  इस पर अधिकारियों ने कहा कि 20 फरवरी को उनकी बात करा दी जाएगी।  जिसके बाद कार्यकत्रियों ने अपना धरना समाप्त किया।  इस दौरान जिलाध्यक्ष नीना तोमर, अर्चना शर्मा, बीरो खन्ना, संगीता देवी, उषा थापा, उषा शाह, सविता सजवाण, शुदा शर्मा, राखी गुप्ता, सुनीता राणा, ममता रतूड़ी, राजमती नेगी, यशोदा सिंह, मोहनी राजपूत, सीमा सिंघ, शाशि भाकुनी, सोनिका चौहान, सरोजिनी रमोला, रूबी त्यागी, अंजू सागर, वृन्दा देवी, मंजू नेगी, नंदी मेहता, सुषमा प्रजपति, सुनीता सैनी आदि मौजूद रहे। 

  • यह है मांगे
  • सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए‌
  • पीएफ, ग्रेच्यूटी, पेंशन व चिकित्सा सुविधा का लाभ मिले
  • 15 साल से ज्यादा काम कर चुकी आंगनबाड़ी कार्यकत्री को वरिष्ठ आंगनबाड़ी सहायिका का पदमान दिया जाए
  • 2016 में हुई हड़ताल के दौरान मानदेय का भुगतान हो
  • उज्जवला योजना के तहत आंगबाड़ी कार्यकत्रियों को गैस कनेक्शन दिए जाएं
 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:agnanwadi activists take out protest rally upto vidhan sabha dehradun