agents conspire to loot cash at finance company in dehradun - एजेंट ने खुद रची थी लूट की साजिश, 03 धरे VIDEO DA Image
15 दिसंबर, 2019|11:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एजेंट ने खुद रची थी लूट की साजिश, 03 धरे VIDEO

विकासनगर नगर कोतवाली पुलिस ने एजेंट से हुई कैश लूट की घटना का खुलासा कर दिया है। कंपनी के एजेंट ने दोस्तों के साथ मिलकर खुद ही लूट की साजिश रची थी। पुलिस ने वारदात में शामिल एजेंट समेत दो को गिरफ्तार किया है, जबकि किशोर को पुलिस संरक्षण में कोर्ट में पेश कर परिजनों के सुपुर्द किया है।  पुलिस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि 13 नवंबर को  इन्फ्रो माईक्रो क्रेडिट को-आपरेटिव सोसायटी के क्षेत्रीय प्रबंधक नवीन शर्मा पुत्र कुंवर सिह शर्मा निवासी 246 बनखंडी योग ऋषिकेश ने विकासनगर कोतवाली में लूट का मुकदमा दर्ज कराया था। बताया कि 13 नवंबर की सुबह उनकी कंपनी के एजेंट साबिर अली पुत्र इकबाल निवासी ग्राम कुतुबमाजरा थाना बड़गांव सहारनपुर से आदूवाला के समीप बाइक सवार बदमाशों ने आंखों में मिर्ची का पाउडर डालकर दो लाख कैश लूट लिया था। वारदात के खुलासे के लिए एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने प्रभारी निरीक्षक विकासनगर , थानाध्यक्ष सहसपुर व थानाध्यक्ष कालसी के नेतृत्व में चार अलग-अलग टीमों का गठन  किया। टीमों ने घटनास्थल केआसपास सीसीटीवी कैमरे खंगाले। पुलिस टीम को घटना के बाद एक संदिग्ध बाइक पर दो युवक के तेजी से जाने की जानकारी मिली। संदिग्ध बाइक के नंबर से पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में जुट गई। पुलिस को पता चला कि आरोपी कुतुबमाजरा सहारनपुर के रहने वाले हैं। पुलिस टीम सहारनपुर पहुंची, जहां से पुलिस ने आमिर पुत्र इन्तजार अली  निवासी कुतुबमाजरा थाना बडगांव, जिला सहारनपुर उप्र को घर से गिरफ्तार कर लिया। आमिर के साथ दूसरा साथी उसी गांव का निकला। विधि विवादित किशोर होने के चलते उसे भी पुलिस संरक्षण में लेकर पुलिस दून पहुंची। दोनों से अलग-अलग 50-50 हजार रुपये, बैग एवं घटना मे प्रयुक्त बाइक बरामद की। एसएसपी ने बताया कि पूछताछ में खुलासा हुआ कि एजेंट साबिर ने लूट की साजिश रची थी। साबिर ने अपने गांव से आमिर और दूसरे किशोर को बुलाया था। एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल ने बताया कि साबिर, आमिर को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जबकि विधि विवादित किशोर को पुलिस संरक्षण में कोर्ट में पेश कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया। साबिर से एक लाख रुपये बरामद किए गए हैं।

 

साबिर ने चार लाख कर्ज चुकाने को रची साजिश
देहरादून। कोतवाली निरीक्षक प्रदीप बिष्ट ने बताया कि आरोपी साबिर ने दो महीने पहले लूट की साजिश रची थी। साबिर ने बयानों में पिता पर चार लाख रुपये का कर्जा होने पर उसे चुकाने के लिए लूट करने की बात कही है। बताया कि साबिर की बहन की शादी एक साल पहले हुई थी,जिसके बाद साबिर और उसके परिजनों पर लोगों का रुपया बकाया था। साबिर दो महीने पहले छुट्टी लेकर गांव पहुंचा और दोस्तों के साथ लूटकी साजिश रची थी।उस समय साबिर के दोस्तों ने इससे इन्कार कर दिया गया। गत रविवार को साबिर छुट्टी पर गांव आया था। साबिर ने आमिर और किशोर को साजिश में शामिलहोने के लिए मनाया और  50-50 हजार रुपये मिलने की बात कही। आमिर और किशोर 13 नवंबर की सुबह लगभग 04:30 बजे अपने गांव से निकलकर हरबर्टपुर पहुंच गये थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:agents conspire to loot cash at finance company in dehradun