ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडदेश की सरकार चुनने के बाद पानी ढोकर प्यास बुझाई, पिथौरागढ़ में जलसंकट से बढ़ी टेंशन

देश की सरकार चुनने के बाद पानी ढोकर प्यास बुझाई, पिथौरागढ़ में जलसंकट से बढ़ी टेंशन

पानी आपूर्ति प्रभावित होने का कारण विभागीय कर्मचारी आंवलाघाट से पानी की पंपिंग न होना बता रहे हैं। दरअसल चंडाक क्षेत्र सहित गोरंगघाटी में बीते गुरुवार शाम से बिजली आपूर्ति बाधित हैं।

देश की सरकार चुनने के बाद पानी ढोकर प्यास बुझाई, पिथौरागढ़ में जलसंकट से बढ़ी टेंशन
Himanshu Kumar Lallपिथौरागढ़। हिन्दुस्तानSat, 20 Apr 2024 11:39 AM
ऐप पर पढ़ें

देश को अपना बहुमूल्य मत देकर नई सरकार देने वाले मतदाताओं को सरकारी तंत्र मतदान के दिन पानी नहीं दे सका। पिथौरागढ़ के गोरंगघाटी क्षेत्र में करीब 20 घंटे से बिजली आपूर्ति ठप होने से आंवलाघाट का पानी लिफ्ट होकर शहर तक नहीं पहुंच सका। इससे शहर के कई हिस्सों में पानी की आपूर्ति ठप रही।

लोग मतदान करने के बाद पानी के लिए प्राकृतिक स्रोतों की दौड़ लगाते नजर आए। शुक्रवार को नगर के सिमलगैर, खड़कोट, न्यू सेरा सहित अन्य कई इलाकों में पानी की आपूर्ति ठप रही है। इससे लोगों को खासी दिक्कत उठानी पड़ी।

पानी आपूर्ति प्रभावित होने का कारण विभागीय कर्मचारी आंवलाघाट से पानी की पंपिंग न होना बता रहे हैं। दरअसल चंडाक क्षेत्र सहित गोरंगघाटी में बीते गुरुवार शाम से बिजली आपूर्ति बाधित हैं। क्षेत्र के हजारों लोगों ने रात अंधेरे में बिताई।

बिजली न होने से आंवलाघाट योजना का पानी भी शहर तक नहीं पहुंचा। स्थानीय निवासी नीमा देवी, नीलम, सुनीता देवी सहित अन्य महिलाओं ने कहा मतदान के दिन घरों में पानी सप्लाई बाधित होने से रोजमर्रा के जरूरी काम निपटाने में परेशानी हुई। कहा कि पहले वह वोट डालने बूथ पहुंची। बाद में उन्होंने प्राकृतिक स्रोत से पानी ढोकर घर तक पहुंचाया। तब कहीं जरूरी काम हो सके।

बिजली आपूर्ति बहाल होने से मिली राहत
गोरंगघाटी क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बहाल हो गई है। इससे स्थानीय लोगों ने राहत की सांस ली है। गुरुवार शाम बाधित हुई बिजली सेवा शुक्रवार को दोपहर ढाई बजे के बीच सुचारू हुई। बिजली सप्लाई फिर से सुचारू होने से अब आंवलाघाट से पंपिंग भी शुरू हो जाएगी।