ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड शादी के आठ साल बाद पत्नी के चरित्र पर हुआ शक, पति ने गेला रेतकर दी खौफनाक मौत 

शादी के आठ साल बाद पत्नी के चरित्र पर हुआ शक, पति ने गेला रेतकर दी खौफनाक मौत 

अशोक की सास मुन्नी देवी ने बताया कि तीन दिन पहले अशोक अपनी ससुराल पहुंचा और अपने बच्चों की पढ़ाई का वास्ता देकर पूनम को उसके साथ भेजने की जिद करने लगा। इस पर उनका दिल पसीज गया और भेज दिया।

 शादी के आठ साल बाद पत्नी के चरित्र पर हुआ शक, पति ने गेला रेतकर दी खौफनाक मौत 
Himanshu Kumar Lallकिच्छा, हिन्दुस्तानSun, 23 Jun 2024 01:50 PM
ऐप पर पढ़ें

शादी के आठ साल बाद पति का पत्नी के चरित्र पर शक होने लगा। अपने शक को यकीन में बदलने के लिए पति ने पत्नी का पीछा भी करना शु्रू कर दिया था। और एक पति ने कुछ ऐसा किया कि परिजन भी दंग रह गए। किच्छा में शनिवार को एक युवक ने पत्नी की हंसिये से गला रेतकर हत्या कर दी।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। पूनम की मां मुन्नी देवी ने बेटी के पति, उसकी बहन-बहनोई पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस के मुताबिक कुछ समय से अशोक पत्नी के चरित्र पर शक करते हुए गंभीर आरोप लगाता था। नाराज होकर एक महीने पहले पूनम मायके चली गई थी।

तीन दिन पहले ही अशोक पूनम को लेकर आया था। अशोक व पूनम के रिश्तों को मधुर करने के लिए अशोक की बहन धनवती उन्हें अपने घर मंड फार्म ले आई। शनिवार को जब धनवती, उसका तेजपाल मंड फार्म पर काम करने और बच्चे खेलने चले गए तभी अशोक ने पूनम की हंसिये से गला रेतकर हत्या कर दी।

दोपहर को जब धनवती काम से लौटकर घर आई तो उसने पूनम का शव कमरे में पड़ा देखा और फार्म मालिक अमरीक सिंह मंड को घटना के बारे में बताया। सितारगंज सीओ बहादुर सिंह ने बताया कि अशोक पत्नी पूनम पर शक करता था। उसको हिरासत में ले लिया है। 

आठ साल पहले हुई थी शादी
अशोक का विवाह आठ वर्ष पूर्व पूनम के साथ हुआ था। अशोक ढाबे पर काम करता था। शुरू में पत्नी-पत्नी के बीच बेहतर तालमेल था। बाद में अशोक पत्नी पर अवैध संबंधों को लेकर शक करने लगा। इससे उनका रिश्ता धीरे-धीरे खोखला होता चला गया।

अशोक की बहन धनवती ने बताया कि कुछ वर्ष पहले अशोक अपनी पत्नी पूनम पर शक करने लगा। शक के कारण दोनों के रिश्तों में खटास आने लगी। लगभग एक महीने पहले पूनम बच्चों को लेकर मायके चली गई। उनकी एक सात वर्षीय लड़की और करीब ढाई वर्षीय लड़का है।

अशोक की सास मुन्नी देवी ने बताया कि तीन दिन पहले अशोक अपनी ससुराल पहुंचा और अपने बच्चों की पढ़ाई का वास्ता देकर पूनम को उसके साथ भेजने की जिद करने लगा। इस पर उनका दिल पसीज गया और पूनम को अशोक के साथ भेज दिया।

इधर, अशोक की बहन धनवती भी अपने भाई और भाभी के रिश्ते को मधुर करना चाहती थी, इसलिए वह भाई अशोक उसकी पत्नी पूनम और उनके बच्चों को अपने घर ले आई। धनवती के चार बच्चे हैं। शनिवार सुबह धनवती और उसका पति तेजपाल काम पर चले गये। सभी बच्चे भी खेलने चले गए।

इस दौरान घर में अशोक और उसकी पत्नी पूनम अकेले रह गए। आरोप है कि अशोक ने अकेला पाकर पूनम की हंसिये से गला रेतकर हत्या कर दी। दोपहर को जब धनवती काम से लौट कर आई, तब खून से लथपथ पूनम के शव को देखकर उसकी चीख निकल गई। इस दौरान अशोक घर के बाहर बैठा था।

धनवती को माजरा समझते देर नहीं लगी। उसने तुरंत अमरीक सिंह मंड को घटना की जानकारी दी। इसके बाद सूचना मिलते ही एसएसआई विनोद कुमार जोशी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया।

पूनम की मां मुन्नी देवी ने पूनम की हत्या का आरोप अशोक व उसके बहन बहनोई पर लगाया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी।

फॉरेसिंक टीम ने जुटाए साक्ष्य
किच्छा। सूचना मिलते ही फॉरेसिंक टीम के सब इंस्पेक्टर एसपी रायपा टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। फॉरेसिंक टीम ने घटनास्थल को सील कर हत्या से संबंधित साक्ष्य जुटाए।