ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड27 दिन बाद हल्द्वानी से पिथौरागढ़ के बीच हेली सेवा ने भरी उड़ान, नहीं मिला एक भी यात्री; क्या वजह?

27 दिन बाद हल्द्वानी से पिथौरागढ़ के बीच हेली सेवा ने भरी उड़ान, नहीं मिला एक भी यात्री; क्या वजह?

 जानकारी के मुताबिक हल्द्वानी से शुक्रवार सुबह निर्धारित समय पर हेलीकॉप्टर मुनस्यारी पहुंचा्र। लेकिन इसमें एकमात्र यात्री ने ही यात्रा की। कुछ देर विश्राम के बाद हेलीकॉप्टर मुनस्यारी से वापस उड़ा।

27 दिन बाद हल्द्वानी से पिथौरागढ़ के बीच हेली सेवा ने भरी उड़ान, नहीं मिला एक भी यात्री; क्या वजह?
Himanshu Kumar Lallपिथौरागढ़, हिन्दुस्तान टीम।Sat, 08 Jun 2024 05:10 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी से पिथौरागढ़, मुनस्यारी के बीच 27दिनों बाद हेलीसेवा ने उड़ान तो भरी, लेकिन बगैर यात्रियों के। शुक्रवार को जिला मुख्यालय पहुंचे हेलीकॉप्टर में एक भी यात्री नहीं आया और न ही यहां से हल्द्वानी को गया। बगैर यात्रियों के ही हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरी।

हालांकि दूसरे चक्कर में जिला मुख्यालय से हल्द्वानी यात्रा करने वाले दो यात्री जरूर मिले। इधर, मुनस्यारी में यात्री न होने से दूसरे चक्कर की सेवा ठप रही। जानकारी के मुताबिक हल्द्वानी से शुक्रवार सुबह निर्धारित समय पर हेलीकॉप्टर मुनस्यारी पहुंचा्र।

लेकिन इसमें एकमात्र यात्री ने ही यात्रा की। कुछ देर विश्राम के बाद हेलीकॉप्टर मुनस्यारी से वापस हल्द्वानी के लिए रवाना हुआ, लेकिन वापसी में भी हेलीकॉप्टर को यात्री नहीं मिले।

पांच के बजाय दो ही यात्री हुए रवाना:
करीब पांच यात्रियों के बजाय दो ही लोग हल्द्वानी के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना हुए। बाद में निर्धारित रूट के तहत हल्द्वानी से बगैर यात्रियों के ही हेलीकॉप्टर नैनीसैनी एयरपोर्ट पहुंचा। वापसी में भी यहां से हेलीकॉप्टर को यात्री नहीं मिले। दूसरे राउंड में भी हेलीकॉप्टर खाली ही नैनीसैनी एयरपोर्ट पहुंचा। हालांकि, वापसी के दौरान दो यात्री यहां से हल्द्वानी के लिए रवाना हुए।

10मई से बाधित थी हेली सेवा
हल्द्वानी से पिथौरागढ़, मुनस्यारी और चम्पावत को इसी साल 22 फरवरी को हेलीकॉप्टर सेवा से जोड़ा गया था। इस सेवा के शुरू हो जाने के बाद हल्द्वानी से मुनस्यारी तक 10 घंटे से अधिक का सफर लोग 40 मिनट में तय कर पा रहे हैं।

पिथौरागढ़ और हल्द्वानी के बीच सात घंटे का सफर महज 35 मिनट में हेलीकॉप्टर से तय होने से लोग काफी उत्साहित थे। आम लोग भी पर्यटन कारोबार बढ़ने की उम्मीद से इस सेवा को वरदान मान रहे थे, लेकिन बीते 10 मई को यह सेवा एकाएक बंद कर दी गई। इससे बुकिंग कर चुके लोगों को भी खासी दिक्कत उठानी पड़ी थी।