ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडबदरीनाथ में Reel बनाने वालों पर ऐक्शन, 15 लोगों के मोबाइल जब्त; पुलिस ने जुर्माना भी वसूला

बदरीनाथ में Reel बनाने वालों पर ऐक्शन, 15 लोगों के मोबाइल जब्त; पुलिस ने जुर्माना भी वसूला

बदरीनाथ में रील बनाने वालों पर पुलिस ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है। बुधवार को रील बनाते 15 लोगों का चालान किया गया। इनका मोबाइल भी जब्त किया गया। चारधाम में यह पहली कार्रवाई है।

बदरीनाथ में Reel बनाने वालों पर ऐक्शन, 15 लोगों के मोबाइल जब्त; पुलिस ने जुर्माना भी वसूला
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,गोपेश्वरThu, 23 May 2024 09:26 AM
ऐप पर पढ़ें

बदरीनाथ मंदिर परिसर में बुधवार को रील बनाते 15 लोगों का चालान किया गया। पुलिस ने उनका मोबाइल फोन आठ घंटे जब्त रख जुर्माना भी वसूला। चारधाम में इस तरह की यह पहली कार्रवाई है। बदरीनाथ मंदिर परिसर में बुधवार को कुछ लोग मोबाइल फोन से वीडियो बना रहे थे। इस पर पुलिस ने 15 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके फोन जब्त कर लिए। सभी का पुलिस ऐक्ट में चालान करते हुए प्रति व्यक्ति 250 जुर्माना भी वसूला गया। 

बदरीनाथ के थानाध्यक्ष नवनीत भंडारी ने बताया, आरोपी मंदिर परिसर के 50 मीटर दायरे में रील बनाने के नियम का उल्लंघन कर रहे थे। उक्त सभी के फोन आठ घंटे जब्त रखे। बाद में सख्त हिदायत देते हुए फोन लौटा दिए गए। मालूम हो सरकार ने चारों धाम व हेमकुंड साहिब की मर्यादा बनाए रखने के लिए मंदिर परिसरों में वीडियो-रील को प्रतिबंधित किया है। इस बीच, देवप्रयाग में सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने गंगा संगम पर सौ मीटर के दायरे में सेल्फी लेने पर प्रतिबंध लगा दिया है। बुधवार को थाना प्रभारी महिपाल सिंह ने यह जानकारी दी।

पंजीकरण के बिना यात्रियों को नहीं भेजें राज्य रतूड़ी

चारधाम यात्रा पर आने वाले हर श्रद्धालु के लिए पंजीकरण अनिवार्य है। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र जारी करते हुए यात्रा में व्यवस्था बनाने को सहयोग करने को कहा। अपील की है कि सभी राज्य अपने यहां पंजीकरण होने के बाद ही यात्रा शुरू करने का प्रचार प्रसार करें। ताकि श्रद्धालु बिना पंजीकरण के अपने राज्यों से रवाना न हों।

सरकार ने चारधाम यात्रा पर आने वाले सभी तीर्थयात्रियों के लिए पंजीकरण को अनिवार्य किया है। फिलहाल हरिद्वार और ऋषिकेश में ऑफलाइन पंजीकरण भी 31 मई तक बंद है। ऐसे में अब ऑनलाइन पंजीकरण के बाद ही श्रद्धालु चारधाम यात्रा पर आ सकते हैं। तीर्थयात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से यह कदम उठाया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने भी चारधाम यात्रा पर देश दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं की सुगम और सुविधाजनक यात्रा को लेकर व्यवस्था बनाने के निर्देश अफसरों को दिए हैं।