DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘अबेकस मॉडल’ से ‘गणित’ सीखेंगे छात्र

जोड़-घटाने, गुणा-भाग में कमजोर सरकारी स्कूलों के छात्रों को सरकार अबेकस के माध्यम से गणित सिखाएगी। अगले शैक्षिक सत्र से प्रदेश के सभी जिलों में 35-35 स्कूलों में प्रयोग के तौर पर अबेकस मॉडल अमल में लाया जाएगा। इसके लिए शिक्षकों को प्रशिक्षण देने का कार्यक्रम मंगलवार से शुरू हो गया है।  प्रदेश के सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए गणित हमेशा एक मुश्किल विषय साबित रहा है। अन्य विषयों की पढ़ाई टीचिंग लर्निंग मैटीरियल के माध्यम से रोचक बनाने का प्रयोग सरकार लंबे समय से कर रही है। इसी क्रम में सरकार अब गणित के लिए अबेकस मॉडल लागू करने जा रही है। अगले शैक्षिक सत्र से प्रदेश के सभी 13 जिलों के कुल 455 स्कूलों में अबेकस के माध्यम से गणित की पढ़ाई कराई जाएगी। इन चयनित स्कूलों में सरकार छात्रों को निशुल्क अबेकस टूल उपलब्ध कराएगी। इसके लिए मंगलवार से सीमैट में शिक्षकों को प्रशिक्षण शुरू हो गया है।  स्टेट नोडल अधिकारी अवनीश उनियाल ने बताया कि इसके बाद सभी डायट में चयनित स्कूलों के शिक्षकों को इसी तरह का प्रशिक्षण देकर अबेकस का प्रयोग सिखाया जाएगा। मंगलवार के प्रशिक्षण कार्यक्रम में एबेकस ब्रेन जिम एकेडमी के डायरेक्टर रितेश लाम्बा, कुलदीप, निशांत ने शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया। कार्यशाला शुभारंभ अवसर पर अपर निदेशक अजय नौड़ियाल, आशा पैन्यूली, विनोद ढौंडियाल, मोहन बिष्ट, उषा कटियार, डा. शक्ति प्रसाद सिमल्टी, पुष्पा जोशी, मोनिका गौड़ आदि उपस्थित रहे। 

सुपर 100 के लिए फैकल्टी की तलाश 
शिक्षा विभाग ने 12वीं की मेधावी 100 छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग देने के लिए फैकल्टी की तलाश शुरू कर दी है। इसके लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री, मैथ, बायोलॉजी के अनुभवी शिक्षकों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। साक्षात्कार 27 दिसंबर से शुरू होंगे। योजना के तहत सरकार चुनिंदा सौ छात्राओं को इंजीनियरिंग, मेडिकल की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए निशुल्क क्रैश कोर्स चलाएगी।   

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:abacus model would be used to teach students to learn mathematics