DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडपरंपरागत खेती के लिए उत्तराखंड को 61 सौ नए कलस्टर,किसानों को ये होगा फायदा 

परंपरागत खेती के लिए उत्तराखंड को 61 सौ नए कलस्टर,किसानों को ये होगा फायदा 

हिन्दुस्तान टीम, देहरादून Himanshu Kumar Lall
Sat, 11 Sep 2021 09:46 AM
परंपरागत खेती के लिए उत्तराखंड को 61 सौ नए कलस्टर,किसानों को ये होगा फायदा 

उत्तराखंड में कलस्टर आधारित कृषि के विकास के लिए केंद्र सरकार ने राज्य में 6100 नए क्षेत्र चिह्नित करने और विकसित करने पर सहमति दे दी। वर्तमान में राज्य में 3900 कलस्टर पर काम हो रहा है।  प्रदेश के कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने इसकी पुष्टि की। 

उन्होंने बताया कि प्रत्येक कलस्टर 20 हेक्टेयर का होगा। ये वर्ष 2021-22 से 2023-24 के दौरान विकसित किए जाएंगे। इससे प्रदेश के 1.22 लाख हेक्टेयर भूमि को कृषियोग्य बनाते हुए वहां स्थानीय फसलों की खेती को प्रोत्साहित किया जाएगा। ये नए क्लस्टर परंपरागत कृषि विकास योजना और नमामि गंगे अभियान के स्वच्छता कार्य योजना के तहत मंजूर हो रहे हैं।

सीएम कृषि विकास योजना में पांच प्रोजेक्ट मंजूर
सीएम कृषि विकास योजना के तहत पांच  विभिन्न प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई। शुक्रवार को सचिवालय में मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधू की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय किया गया। बैठक में विभागीय अधिकारियों ने पूर्व में  स्वीकृत16 परियोजनाओं की प्रगति का विवरण प्रस्तुत किया।

उद्यान विभाग, कृषि विभाग व भरसार  विश्वविद्यालय पौड़ी की एक एक परियोजना तथा मत्स्य विभाग की दो  परियोजनाओं को मंजूरी दी गईं। बैठक में सचिव कृषि मीनाक्षी सुन्दरम, निदेशक कृषि गौरीशंकर, निदेशक उद्यान  एचएस बावेजा, निदेशक पशुपालन डॉ. प्रेम कुमार, निदेशक सगंध पौध केन्द्र सेलाकुई डॉ. नृपेन्द्र चौहान, भरसार उद्यान विश्वविद्यालय के निदेशक डॉ. अनमोल आदि उपस्थित थे। 

 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें