DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चार-चार सीएम देने वाले पौड़ी जिले में 07 सालों में 186 गांव खाली हुए

प्रदेश को चार-चार मुख्यमंत्री दे चुके पौड़ी जिले में बीते सात साल के दौरान 186 गांव पूरी तरह खाली हो गए हैं। जिले के 12 विकासखंड़ों में पलायन के चलते जनसंख्या वृद्धि की दर ऋणात्मक हो गई है। पलायन की मार झेल रहे पौड़ी के गांवों को फिर आबाद करने के लिए ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत किए जाने की जरूरत है। ग्राम विकास एवं पलायन आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. एसएस नेगी ने शुक्रवार को पौड़ी जिले में पलायन की समस्या पर केंद्रित रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी। रिपोर्ट में पलायन की रोकथाम करने के उपाय सुझाए गए हैं।  सीएम आवास में रिपोर्ट जारी करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि पौड़ी के बाद अल्मोड़ा जिले का  विस्तृत अध्ययन किया जाएगा। इस आधार पर सरकार ग्रामीण विकास से जुड़े सभी विभागों को साथ लेकर पलायन प्रभावित जिलों के लिए कार्य योजना तैयार करेगी। इसी क्रम में सहकारिता विभाग की 3600 करोड़ की योजना को केंद्र सरकार ने भी इजाजत दे दी है। इस मौके पर पलायन आयेाग के उपाध्यक्ष डॉ. एसएस नेगी ने कहा कि पिछली चार जनगणनाओं में पौड़ी में जनसंख्या वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की जा रही है। हालांकि 2011 में खिर्सू, थलीसैंण और दुगड्डा ब्लॉक में जनसंख्या वृद्धि दर सकारात्मक रही है।  रिपोर्ट बताती है कि पलायन के पीछे सबसे बड़ा कारण पहाड़ में रोजी रोटी कमाने के साधनों का अभाव है। पौड़ी के आंकड़े बताते हैं कि 52.58 फीसदी लोगों ने रोजगार की तलाश में गांव से नाता छोड़ा। इसके बाद स्वास्थ्य सेवाओं का अभाव, शिक्षा और सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाओं की कमी के चलते लोगों ने पलायन किया।

खाली हुए गांवों का विवरण
बीरोंखाल               16
दुगड्डा                  12
द्वारीखाल                09
एकेश्वर                   06
कल्जीखाल             12
खिर्सू                      08
कोट                       28
नैनीडांडा                 05
पाबौ                      07
पौड़ी                      27
पोखड़ा                   09
रिखणीखाल            29
थलीसैंण                 08
यमकेश्वर                08
जयहरीखाल            02
(2011 की जनगणना के बाद)

पलायन रोकने को सिफारिश

  • गांवों की अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जाए
  • कृषि के साथ ही गैर कृषि आय को बढ़ावा दिया जाए
  • बिजली, सड़क, पेयजल जैसी बुनियादी सुविधाओं का विकास
  • पशुपालन को बढ़ावा देकर रोजगार के साधन बढ़ाए जाए
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:186 villages emptied in seven years from pauri district known for giving four chief ministers in uttarakhand