DA Image
23 फरवरी, 2020|6:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्यों शिफ्ट हुए एनआईटी के 120 छात्र-15 कर्मी जयपुर ? जानिए पूरा मामला

श्रीनगर एनआईटी में पढ़ रहे छात्रों को सरकार द्वारा जयपुर शिफ्ट करने के फरमान के बाद छात्र जयपुर के लिए रवाना हो गये हैं। एनआईटी प्रशासन द्वारा छात्रों के लिए श्रीकोट में प्राइवेट हॉस्टल लिये गये थे।  जिसमें श्रीकोट में प्राइवेट हॉस्टल में रह रहे लगभग 120 से अधिक छात्र जयपुर के लिए रवाना हो गये हैं। जिन्होंने हॉस्टल से अपने सामान भी ले लिए हैं। अब कुछ हॉस्टलों में दस से बारह के लगभग ही छात्र रह गये हैं। जो भी कुछ दिन में रवाना हो जायेंगे। यहीं नहीं एनआईटी से 11 कर्मचारी एवं 4 फैकल्टी मेम्बर भी जयपुर के लिए रवाना हो गये हैं।  विदित है कि एनआईटी के छात्रों ने एक माह से अधिक समय पर सुविधाओं एवं स्थाई कैंपस की मांग को लेकर आंदोलन किया था। आंदोलन के बाद भी सरकार द्वारा कोई सुध न लिये जाने पर एनआईटी के बच्चे अपने घरों के लिए चले गये थे। जिसके बाद एमएचआरडी ने आंदोलन में शामिल छात्रों को जयपुर एनआईटी में शिफ्ट करने का फरमान जारी किया। जिसके बाद एनआईटी श्रीनगर से परेशान रहने वाले छात्र धीरे-धीरे जयपुर के लिए रवाना होने लगे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईटी के छात्रों से श्रीनगर से जयपुर के रवाना होने पर खुशी भी मनाई और एक दूसरे को बधाई दी।  श्रीकोट क्षेत्र में प्राइवेट में लिये गये चार हॉस्टलों को 31 दिसम्बर तक एनआईटी प्रशासन ने छोड़े जाने का पत्र भी दिया है। जबकि प्राइवेट हॉस्टल में रहने वाले अधिकाशं छात्र हॉस्टल छोड़कर जयपुर के लिए रवाना भी हो गये है।  एनआईटी के रजिस्ट्रार कर्नल सुखपाल सिंह ने बताया कि एनआईटी से कितने बच्चे जयपुर के लिए रवाना हुए, इसकी जानकारी नहीं है। किंतु 11 कर्मचारी जयपुर के लिए भेज दिये हैं। जबकि 4 फैकल्टी मैम्बर जयपुर देखने के लिए भेजे गये है। अभी कितने कर्मचारी व फैकल्टी मेम्बर भेजने हैं, इस संदर्भ में अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है। 

बच्चों से स्थानांतरण से सुना पड़ा भक्तियाना
एनआईटी के 500 बच्चों के स्थानांतरण एसएसबी क्षेत्र के भक्तियाना में कई दुकानदारों की अच्छी आय होती थी, किंतु बच्चों के स्थानांतरण से स्थानीय व्यापारियों, होटल, ढाबे वालों पर भी असर पड़ा है। जबकि प्राइवेट हॉस्टल संचालकों पर भी असर पड़ा है। हॉस्टल खाली होने से अब हॉस्टल मालिकों को नये बच्चे देखने होंगे। जबकि एनआईटी में मात्र 400 बच्चों के लिए खुद के हॉस्टल है। इधर एनआईटी के रजिस्ट्रार कर्नल सुखपाल सिंह ने बताया कि 500 बच्चों के जयपुर स्थानांतरण होने के बाद नये सत्र से नये बच्चों के एडमिशन होंगे। हालांकि बच्चों की संख्या कम रहेगी। एनआईटी श्रीनगर क्षेत्र में ही बने इसके लिए एनआईटी प्रशासन पूरा प्रयास करेगा। 


 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:120 students and 15 employees from nit srikot shifts to jaipur