108 service workers clash with police injuries to many employees - 108 सेवा कर्मचारियों की पुलिस से झड़प, कई कर्मचारियों को आई चोटें DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

108 सेवा कर्मचारियों की पुलिस से झड़प, कई कर्मचारियों को आई चोटें

protest

नई कंपनी में समायोजन की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे 108 सेवा कर्मचारियों की रविवार को प्रदर्शन के दौरान पुलिस से झड़प हो गई। इस घटना में संगठन ने कई कर्मचारियों के घायल होने का आरोप लगाया है।

 इस पर गुस्साए कर्मचारियों ने शाम साढ़े पांच बजे के करीब धरना स्थल पर मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। जिससे देर रात तक यातायात बाधित रहा। इससे पहले 108 सेवा कर्मचारियों ने संगठन के प्रदेश अध्यक्ष नीरज शर्मा और सचिव विपिन जमलोकी की अगुवाई में धरना स्थल पर जोरदार प्रदर्शन किया। यहां पहले से ही भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई थी। बड़ी संख्या में मौजूद कर्मचारी अपनी मांग पर अड़े रहे। इस दौरान दोनों पक्षों में झड़प भी हो गई। जिससे कई कर्मचारियों को चोटें भी आई। मुख्य मार्ग पर कर्मचारियों का प्रदर्शन देर रात तक जारी रहा। इस मौके पर शीशपाल कठैत, सुमित, पंकज, पनीराम, आन सिंह, दयाल कुमार, दिवाकर भट्ट से दर्जनों कर्मचारी मौजूद रहे।

दिन भर चला चूहे बिल्ली का खेल
परेड ग्राउंड धरना स्थल पर रविवार को 108 सेवा कर्मचारियों और पुलिस बल के बीच दिन भर चूहे बिल्ली का खेल चलता रहा। कभी कर्मचारी आक्रोशित होते तो कभी पुलिस सख्ती दिखाती। सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक न पुलिस जवान टस से मस हुए और न ही कर्मचारी पीछे हटने को तैयार हुए। इस बीच कई कर्मचारी भूखे प्यासे ही प्रदेश सरकार के खिलाफ नारे लगाते रहे। लेकिन मजबूत बैरीकेटिंग और बड़ी संख्या में मौजूद पुलिस जवानों के कारण कर्मचारी आगे नहीं बढ़ पाए।

शाम पांच बजते ही बदला नजारा
रविवार सुबह से करीब 11 घंटे बाद परेड ग्राउंड के मुख्य मार्ग के बाहर बैठे 108 सेवा कर्मचारियों का शाम पांच बजे धैर्य जवाब दे गया। कर्मचारी लैसडाउन चौक पर दोबारा से पुतला जलाने की मांग करने लगे। लेकिन पुलिस ने ऐसे होने नहीं दिया। करीब 5.15 पर कर्मचारियों ने वहीं बैठे पुतला जला दिया। इस दौरान कर्मचारियों की पुलिस से झड़प हो गई। कुछ कर्मचारियों पर हल्का बल प्रयोग किया गया। 108 सेवा कर्मचारी संगठन के सचिव विपिन जमलोकी ने कहा कि पुलिस के लाठी भांजने से उनके चार साथी घायल हुए हैं। जिनमें से पवन खेतवाल को पेट में चोट आने के कारण दून अस्पताल ले जाया गया।

परेड ग्राउंड मुख्य मार्ग किया जाम
पुतला जलाते ही 108 सेवा कर्मचारी धरना स्थल से मुख्य मार्ग पर आ गए। यहां सड़क पर जमा होकर यातायात पूरी तरह से ठप कर दिया। कर्मचारी यहां बैठकर नारेबाजी करने लगे। इस दौरान घंटाघर से कनक चौक जाने वाले वाहनों को तिब्ब्ती बाजार से होते हुए सर्वे चौक के रास्ते भेजा गया। कर्मचारी देर शाम तक मुख्य मार्ग पर डटे रहे।

कर्मचारियों के घायल होने का आरोप
संगठन के अध्यक्ष नीरज शर्मा ने कहा कि शाम करीब 5.28 मिनट पर पुलिस ने बिना कारण कर्मचारियों पर लाठी बरसानी शुरू कर दी। जिसमें उनके साथी कुंदन सुयाल, अंकित और लक्ष्मी व्यास को चोटें आई हैं। जबकि पवन खेतवाल गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:108 service workers clash with police injuries to many employees