DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कीर्तिनगर में भांजी को बचाने के चक्कर में मामा बहा

कीर्तिनगर के ढुढ़प्रयाग में गुरुवार को नदी में नहाते समय भांजी को बचाने के चक्कर में उसका मामा बह गया। बच्ची को बहता देख परिजन भी नदी में कूदने लगे। लेकिन पास के एक श्रमिक ने परिजनों और बच्ची को तो नदी से बाहर निकाल लिया। लेकिन बच्ची को बचाने के चक्कर में नदी में कूदने वाला मामा बह गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन नदी में बहने वाले युवक का कोई पता नहीं चला।दिल्ली संगम बिहार में रहने वाला एक परिवार इन दिनों अपने गांव में देव-पूजन के लिए पौड़ी कंडारास्यूं पट्टी के मैथी गांव आ रहा था। गांव आने से पहले परिवार के सदस्य ढुढ़प्रयाग अलकनंदा तट पर नहाने चले गए, तो इस दौरान एक आठ साल की बच्ची नदी में बह गई। उसे बचाने के चक्कर में उसके मामा नदी में कूद गया, किंतु वह नदी के तेज बहाव में बह गया। कीर्तिनगर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक बलवंत चौधरी ने बताया कि कंडारस्यूं पट्टी के महरगांव निवासी प्रकाश रावत नदी में अपनी भांजी को बचाते हुए नदी में बह गया। काफी खोजबीन के बाद भी उसका कोई पता नहीं चला। ढुढ़प्रयाग में नहाते समय बच्ची के बहने पर एक-दूसरे को बचाने के चक्कर में नदी में कूदी दो महिलाओं के शोरगुल होने पर कीर्तिनगर में पास ही काम कर रहा श्रमिक मदन लाल मौके पर पहुंचा। उसने दो महिलाओं को नदी से बाहर निकाला, उसके बाद नदी में बह रही बच्ची को चुन्नी के सहारे बाहर निकाला। जबकि भांजी को नदी में बचाने के लिए कूदा प्रकाश रावत नदी में बह गया। मदनलाल ने बताया कि ढुढ़प्रयाग में नदी में डूबे लोगों के शोरगुल सुनकर वह नदी में गए और नदी में डूब रही एक बच्ची और उसे बचाने के लिए नदी में कूदी दो महिलाओं को बाहर निकाला। जबकि अपनी भांजी को बचाने के लिए कूदा प्रकाश नदी की तेज धाराओं में बह गया। इधर, एसआई बलवंत चौधरी ने बताया कि मदनलाल ने तीन लोगों की जान बचाई, इसके लिए पुलिस मदनलाल को पुरस्कृत करने के लिए उच्चाधिकारी को प्रस्ताव भेजेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Mata sahab in the wake of the niece in Kirtinagar