DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुलपति के आदेश पर भड़के एबीवीपी कार्यकर्ता

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि के शोध छात्र-छात्राओं को 10 मई से 30 जून तक अपने-अपने विभागों में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने व इस अवधि में किसी भी तरह का अवकाश न दिए जाने के आदेश के विरोध में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।

इस दौरान एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने कुलपति के खिलाफ नारेबाजी भी की। कहा यह आदेश शोध छात्रों के शोध कार्य की दृष्टि से किसी हाल में उचित नहीं है। उन्होंने इसके खिलाफ उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।एबीवीपी के पूर्व प्रदेश मंत्री व पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष सुधीर जोशी ने कहा कि कुलपति द्वारा विभागाध्यक्षों को दिए आदेश में शोधार्थियों को 10 मई से 30 जून तक किसी भी प्रकार का अवकाश न दिए जाने व सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक नियमित रूप से विभाग में उपस्थित रहने को कहा गया है। कहा यह आदेश शोध छात्रों का शोषण करने वाला आदेश है। कहा इससे शोध कार्य करने वाले छात्रों पर अनावश्यक रूप से अतिरिक्त दबाव डाले जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। जिससे शोध छात्रों को मानसिक दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जो शोध छात्र इस अवधि में फील्ड में रहेंगे उन्हें भी इससे परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। विरोध प्रदर्शन करने वालों में पूर्व छात्र महासंघ अध्यक्ष शैलेश मलासी, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अंकुर रावत, पूर्व महासचिव ऋतांशु कंडारी, दिपांशु, संदीप राणा, नितिन झिंकवाण, शुभम बिजल्वाण, सौरभ नौटियाल, अनुज, राहुल गौरव मोहन, बलवीर गड़िया आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ABVP activist spreads on orders of Vice Chancellor