DA Image
15 नवंबर, 2020|7:59|IST

अगली स्टोरी

खड़ दीपक पूजन के लिए 53 ने कराया पंजीकरण

default image

नगर में प्रत्येक वर्ष बैकुंठ चतुर्दशी पर संतान प्राप्ति की कामना को लेकर कमलेश्वर महादेव मंदिर में आयोजित होने वाला खड़ दीपक पूजन इस बार 28 नवंबर को होगा। खड़ दीपक देने के लिए अभी तक 53 निसंतान दंपत्तियों ने पंजीकरण करा दिया है। गोधूली की बेला पर पहला खड़ दीपक प्रज्जवलित कर मंदिर के महंत की ओर से इसकी शुरुआत की जाएगी। प्रत्येक परिवार की ओर से इसी दिन 365 बत्तियां भी मंदिर में प्रज्जवलित होंगी।

मंदिर के महंत आशुतोष पुरी ने बताया कि कोविड-19 को देखते हुए इस बार खड़ दीपक देने आने वाली दंपत्तियों के बीच चार-चार फीट की दूरी रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि मंदिर की ओर से खड़ दीपक देने वालों को सेनेटाइजर और मास्क भी दिए जाएंगे। कहा बैकुंठ चतुर्दशी पर प्रत्येक वर्ष होने वाला यह आयोजन इस बार भी धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। कहा इसके लिए सभी तैयारियां जोरों पर आयोजित की जा रही हैं। खड़ दीपक पूजन के दिन विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं की ओर से इस बार सहयोग दिए जाने की बात कही गई है। महंत ने कहा कि कोरोना के चलते मंदिर सात माह से अधिक समय तक बंद रहा। उन्होंने सरकार से बैकुंठ चतुर्दशी पर्व को धूमधाम से आयोजित कराए जाने के लिए अनुदान दिए जाने की मांग भी की।

बत्तियां बनाने में जुटी महिलाएं

बैकुंठ चतुर्दशी पर्व पर कमलेश्वर महादेव मंदिर में घर के प्रत्येक सदस्य की ओर से साल भर के बदले 365 बत्तियां चढ़ाई जाती हैं। इसको लेकर श्रीनगर में प्रत्येक परिवार में उत्साह रहता है। मान्यता है कि जो श्रद्धालु पूरे साल भर में समय की उपलब्धता न होने या अन्य कारणों से कारण दीपक नहीं जला पाते हैं, यदि वह बैकुंठ चतुर्दशी पर कमलेश्वर महादेव में एक साथ 365 बत्तियां जलाते हैं तो उन्हें पुण्य फल की प्राप्ति होती है। मंदिर के महंत आशुतोष पुरी ने बताया कि 28 नवंबर को सुबह 10 बजकर 26 मिनट से 29 नवंबर दोपहर 12 बजकर 50 मिनट तक बत्तियां प्रज्जवलित कर सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:53 registered for Khad Deepak Pujan