DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड रुद्रपुरसितारगंज के ग्राम प्रधानों ने मनरेगा कार्यों का बहिष्कार किया

सितारगंज के ग्राम प्रधानों ने मनरेगा कार्यों का बहिष्कार किया

हिन्दुस्तान टीम,रुद्रपुरNewswrap
Wed, 01 Jul 2020 06:32 PM
सितारगंज के ग्राम प्रधानों ने मनरेगा कार्यों का बहिष्कार किया

ग्राम प्रधानों ने मांगें नहीं मानने पर मनरेगा कार्यों का बहिष्कार कर दिया है। ग्राम प्रधान संघ ने बीडीओ हरीश जोशी के माध्यम से मुख्यमंत्री को मांग पत्र भेजा। इस दौरान उन्होंने शीघ्र मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

बुधवार को ग्राम प्रधान संघ के अध्यक्ष भास्कर सम्मल के नेतृत्व में ग्राम प्रधानों ने बीडीओ को मांग पत्र सौंपा। कहा रोजगार गारंटी योजना वर्ष 2005 में प्रत्येक गरीब मजदूर व्यक्ति की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए प्रारम्भ हुई। इसमें हजारों मजदूर पंजीकृत हैं। कोरोना काल में हजारों मजदूर अपने घरों को वापस लौटे हैं। इन्हें मनरेगा से मजदूरी दिलाने की कोशिश चल रही है। लेकिन मनरेगा गाइड लाइन, विभाग के अधिकारियों की हठधर्मी रवैये, कर्मचारियों की कमी के चलते कार्य नहीं हो पा रहे हैं। प्रधानों ने मनरेगा कार्य के लिए प्रत्येक न्याय पंचायत में एक जेई, डाटा इंट्री ऑपरेटर की तत्काल नियुक्ति, प्रधान की जानकारी के बगैर कार्य नहीं कराने के साथ ही मनरेगा की जांच प्राइवेट संस्था या एनजीओ से नहीं कराकर विशेषज्ञों से कराने की मांग की। कहा मनरेगा में सीमेंट रेट 355 रुपये प्रति कट्टा है। जबकि पर्वतीय क्षेत्र में 555 रुपये प्रति कट्टा बाजार रेट है। इस दौरान उन्होंने मनरेगा निर्माण सामग्री के टेंडर प्रक्रिया को समाप्त करने की मांग की। यहां सुखविन्दर सिंह मोमी, निमिषा डसीला, लक्खा सिंह, नारायण सरदार, जसपाल सिंह, कुलदीप सिंह, संगीता राना, दिनेश राना, राकेश रस्तोगी, बलविन्दर सिंह, पूरन सिंह, सुखदेव सिंह, शशिबाला, राजा रानी, राहिल मलिक रहे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें