DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 लाख फिरौती की रकम के साथ तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

5 लाख फिरौती की रकम के साथ तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

पुलिस ने सीमेंट कारोबारी रवीश गर्ग की किडनैपिंग में फरार और तीन बदमाशों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस के मुताबिक बदमाशों के कब्जे से 5 लाख फिरौती की रकम, तीन तमंचे, कारतूस और मोबाइल फोन मिला है। पुलिस 27 मई को अपहरण का खुलासा कर तीन बदमाशों को 2.25 लाख नकदी और हथियार के साथ पकड़ चुकी है। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार को वरिष्ठ उपनिरीक्षक बीएस बिष्ट की अगुवाई वाली टीम ने पीलीभीत के ग्राम सरकड़ा तिराहे के पास व्यापारी रवीश गर्ग के तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पिंचा ने बताया कि ग्राम कैथुलिया नानकमत्ता निवासी बदमाश शमशेर सिंह उर्फ शम्मी, निशान सिंह ग्राम सैजनी, बलजीत सिंह निवासी ग्राम टुकड़ी के कब्जे से फिरौती के पांच लाख रुपये, दो तमंचे, कारतूस, मोबाइल फोन बरामद हुआ है। एएसपी के अनुसार निशान सिंह साथियों के साथ 19 मई की शाम व्यापारी रवीश गर्ग को सिडकुल मार्ग से उठा ले गया था। अपहरण का मुख्य सरगना शमर सिंह, संजय उर्फ गुड्डू उर्फ मोटा निवासी पंजाब के इशारे पर निशान गैंग के छह सदस्यों का लोकल स्तर पर सरगना बना था। बदमाश निशान सिंह पुलिस की गिरफ्त में है। एएसपी ने बताया कि 15 लाख की फिरौती की रकम में पुलिस गिरफ्तार किए छह बदमाशों से 7.25 लाख रुपये बरामद कर चुकी है। प्रकरण में फरार बदमाश शमर, संजय गिरोह संचालित कर रहे थे। लोकल कनेक्शन खंगालती रहेगी पुलिससितारगंज। हनीफ बाबाव्यापारी अपहरण मामले में पुलिस की धरपकड़ के बाद प्रकरण से जुड़ी तमाम परतें खुल रही हैं। एएसपी देवेंद्र पिंचा ने बताया कि केस में नामजद 8 बदमाशों में 6 बदमाशों को पुलिस फिरौती की रकम, अपहरण में प्रयुक्त हथियार, मोबाइल के साथ गिरफ्तार कर चुकी है। इनकी गिरफ्तारी के बाद भी अब तक पुलिस की तफ्तीश में लोकल स्तर से प्रकरण में शामिल किसी आरोपी का नाम सामने नहीं आया है। फरार मुख्य सरगना शमर सिंह, संजय उर्फ गुड्डू की गिरफ्तारी होने तक इस बिंदु पर भी जांच करती रहेगी। एएसपी के अनुसार निशान सिंह, चरन सिंह गिरोह में कड़ी का काम करता था। शमशेर बाद में अपहरण में शामिल किया गया। निशान सिंह, चरन उर्फ चन्ना गिरोह के बाकी छह बदमाशों के बीच कड़ी थे। रवीश की दुकान के बगल में बाइक मिस्त्री रविंद्र, बलजीत सिंह व्यापारी की पहरेदारी करते थे। एएसपी ने बताया कि बलजीत, रवींद्र को जंगलों के रास्तों की जानकारी थी। व्यापारी को कहां छिपाना है, ये वे ही तय करते थे। 19 मई को व्यापारी को अगवा करने के बाद रविंद्र ने ही व्यापारी की लोकेशन दी थी। व्यापारी को फिरौती के लिए चिन्हित करने में भी रविंद्र का नाम पुलिस जांच में सामने आया है। टीम में शामिल पुलिस कर्मी एसएसआइ बीएस बिष्ट, एसओ मोहन पांडे, एसआइ विनोद जोशी, चंद्रप्रकाश, बवलू गोस्वामी, उमेश सिंह, महेंद्र डंगवाल, कमलनाथ गोस्वामी, अमित मलिक, दीपक जोशी, कमलेश पंगरिया मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three kidnappers arrested with 5 lakh ransom money