DA Image
27 नवंबर, 2020|10:38|IST

अगली स्टोरी

सुन्ना दाजू के निधन से गमगीन हुआ शहर

सुन्ना दाजू के निधन से गमगीन हुआ शहर

सुन्ना दाजू उर्फ जीवन चंद जोशी (दस्तावेज लेखक) के अचानक हुए निधन से पूरे शहर में शोक की लहर है। 52 वर्षीय जोशी पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। नगरवासियों ने उनके पंजाबी मोहल्ला स्थित निवास स्थान पर पहुंच कर शोकाकुल परिवार को शोक संवेदनाएं दी।

बुधवार सुबह आदित्य चौक स्थित सत्यपथ धाम पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद रहे। बता दें उत्तराखंड राज्य आंदोलन से जुड़े जोशी रामलीला में गणेश भगवान का किरदार करते थे। वह रजिस्ट्रार दस्तावेज लेखक संघ के संरक्षक थे। सभी लोग उन्हें सुन्ना दाजू के नाम से जानते थे। सुन्ना दाजू अपने मृदुभाषी आचरण के कारण सभी लोगों के प्रिय थे। जोशी की बहन सुधा जोशी कांग्रेस की जिला महामंत्री हैं। जोशी की पिछले कुछ समय से तबीयत खराब चल रही थी। मंगलवार रात तबीयत ज्यादा बिगड़ने से उनका निधन हो गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The city became a bit sad due to the death of Sunna Daju