ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड रुद्रपुरखटीमा में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का धरना प्रदर्शन

खटीमा में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का धरना प्रदर्शन

खटीमा। मानदेय वृद्धि सहित पांच सुत्रीय मांगो को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने बाल विकास...

खटीमा में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का धरना प्रदर्शन
हिन्दुस्तान टीम,रुद्रपुरThu, 22 Feb 2024 01:15 PM
ऐप पर पढ़ें

खटीमा। मानदेय वृद्धि सहित पांच सुत्रीय मांगो को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने बाल विकास विभाग कार्यालय के सामने अनिश्चितकालीन धरना चौथे दिन भी जारी रहा।
गुरुवार को धरनास्थल पर पहुंचे उप नेता प्रतिपक्ष एवम विधायक भुवन कापड़ी ने पहोंच समर्थन दिया।उन्होंने कहा की वह उनकी मांगों को मुख्यमंत्री से वार्ता करेंगे और विधानसभा में भी मुद्दा उठाएंगे।विदित हो कि मानदेय वृद्धि सहित पांच सुत्रीय मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां पिछले कई दिनों से एसडीएम, तहसीलदार व बाल विकास परियोजना अधिकारी के माध्यम से राज्य व केन्द्र सरकार को ज्ञापन प्रेषित करती रही है। धरने के चौथे दिन भी बाल विकास विभाग कार्यालय के सामने धरने पर बैठी कार्यकत्रियों ने केन्द्र व राज्य सरकार पर हमला करते हुए जमकर नारेबाजी की। आंगनबाड़ी संगठन की ब्लॉक उपाध्यक्ष पुष्पेन्द्री कौर ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां अपने संगठन के माध्यम से मानदेय में वृद्धि किये जाने सहित विभिन्न मांगों को लेकर शासन प्रशासन को अवगत कराते रहे है। लेकिन सरकार ने उनकी मांगे नहीं मानी। उन्हांने कहा कि महिला सशक्तिकरण को लेकर केन्द्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं को धरातल पर उतारने का कार्य आंगनबाड़ी कार्यकत्री पूरी लगन के साथ करती है। बावजूद इसके सरकार उन्हें बेहद कम मानदेय देती है। उन्होंने सरकार से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को 18 हजार रुपये मानदेय देने, 15 वर्ष पूरे होने पर प्रतिवर्ष मानदेय में बढ़ोत्तरी किये जाने, सेवानिवृत होने पर कार्यकत्री को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद दिये जाने, कार्यकत्रियों को गोल्डन कार्ड जारी करने की मांग की। उन्होंने चेतावानी देते हुए कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगो को पूरा नही किया तो उनका आन्दोलन जारी रहेगा। इस दौरान धरने में लखविंदर कौर, इन्द्र पोखरिया, कमला बिष्ट, शोभा रस्तोगी, जानकी गहतोड़ी, कमला भट्ट, शीला पोखरिया, आशा, किरन मौर्या, कलावती देवी आदि मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें