DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर के अंदर भी हेलमेट पहनना होगा अब जरूरी

एआरटीओ ने बताया कि दुपहिए सवारों को नगर के अंदर भी हेलमेट पहनना जरूरी होगा। सड़क सुरक्षा को लेकर तहसील परिसर में उपजिलाधिकारी नरेश चंद दुर्गापाल और एआरटीओ राठौर ने स्थानीय लोगों की बैठक का आयोजन किया। बैठक में सड़क सुरक्षा से जुड़े नियमों के पालन को कहा। उपजिलाधिकारी नरेश दुर्गापाल ने कहा कि सड़क दुघर्टना में उत्तराखंड की सबसे अधिक मौत ऊधम सिंह नगर में होती है। उन्होंने बताया कि अब शहर के अंदर भी हेलमेट पहनना अनिवार्य किया जाएगा। लोगों ने नगर के अंदर बेतरतीब चलने वाले सवारी मैजिक, टेम्पों और टुकटुक रिक्शों को लेकर आपत्ति जताई। लोगों ने प्रशासन से डग्गामारी वाहनों के शहर में प्रवेश निषेध की बात कहीं। बैठक में तहसीलदार गोपाल राम आर्या, कोतवाली प्रभारी एमसी पांडे, पालिकाध्यक्ष महेंद्र चावला आदि थे।

डग्गामारी वाहनों को लेकर पुलिस पर फूटा गुस्सा लोगों का डग्गामरी वाहनों को लेकर पुलिस पर गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस की मिलीभगत से बहेड़ी, रुद्रपुर और हल्द्वानी रोड पर चलने वाले वाहन मानकों से अधिक सवारी भर कर शहर के अंदर तीव्र गति से चलते हैं, जिससे हमेशा दुर्घटना का भय बना रहता है। उन्होंने आरोप लगाया कि कोतवाली के सामने टेम्पों, मैजिक वाले रेलवे स्टेशन की सवारी भरने को लेकर सड़क पर जाम लगाए रहते है। वहीं बैठक के बाद सीओ हिमांशु शाह ने बहेड़ी रोड पर चलने वाली पांच डग्गामारी वाहनों को गैरकानूनी तरीके से चलने पर सीज कर दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Inside the city must also wear helmets.