DA Image
25 जनवरी, 2021|10:10|IST

अगली स्टोरी

सूरा सो पहचानिये, जो लड़े दीन के हेत, पुर्जा-पुर्जा कर मरे, कबहू ना छोड़े खेत

default image

गदरपुर। बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझार सिंह, बाबा जोरावर सिंह, फतेह सिंह और माता गुजरी कौर के शहादत दिवस पर ग्राम जीवनपुर नंबर एक स्थित गुरुद्वारा साहिब में भारी दीवान सजाया गया। इस दौरान सूरा सो पहचानिये, जो लड़े दीन के हेत। पुर्जा-पुर्जा कर मरे, कबहू ना छोड़े खेत का गायन किया गया। साथ ही श्री गुरुग्रंथ साहिब के अखंड पाठ के बाद रागी नजर सिंह ने गुरवाणी-कीर्तन की प्रस्तुति दी।

सोमवार को कथा वाचक राजेंद्र सिंह ने गुरु गोविंद सिंह के चार पुत्रों और पत्नी की शहीदी की दास्तान सुनाकर संगत भावुक कर दिया। कथा वाचक भाई श्रेष्ठ सिंह ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए सभी को मिलजुल कर गुरु वाले बनने का आह्वान किया। सिख मिशनरी कॉलेज लुधियाना की गदरपुर इकाई के सदस्यों ने एक गुरवाणी पाठ दस्तार प्रतियोगिता तथा सिख आदर्शों पर आधारित प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें प्रतिभाग करने वाले लगभग दो दर्जन बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। भाई मुख्तियार सिंह ने सुख शांति की अरदास व भाई सतनाम सिंह ने गुरवाणी पाठ किया। यहां देवेंद्र पाल सिंह, नैब सिंह धालीवाल, बलविंदर सिंह, पालिका अध्यक्ष गुलाम गौस, पूर्व विधायक प्रेमानंद महाजन, अजैब सिंह धालीवाल, रजविंदर सिंह, महेंद्र पाल सिंह, सुरेश कुमार, हर्ष कुमार, अमन कुमार, अनु रोहित कंबोज, प्रिंस करमचंद, चरणजीत सिंह, मनोज गुंबर, संतोष गुप्ता, जोगा सिंह, प्रेम सिंह, पूर्व ग्राम प्रधान हरबंस कौर, अमरजीत कौर, पूजा कौर, संदीप कौर, मनजीत कौर, हिना रहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Identify the sura who died for the sake of the oppressed who died by doing the parts not leaving the fields