DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपसी संघर्ष में पांच साल के नर गुलदार की मौत

सुरई वन रेंज के रेंजर आरके मौर्य ने बताया कि गुरुवार को मानसून गश्त के दौरान वन क्षेत्र बग्घा के कक्ष संख्या 52 में एक गुलदार का शव मिला। इस पर वह टीम संग मौके पर पहुंचे और पोस्टमार्टम के लिए पशु चिकित्सकों को मौके पर बुलाया। डॉ. संजीव शर्मा ने बताया कि गुलदार की मौत आपसी संघर्ष में हुयी है। शव करीब दस दिन पुराना है। पोस्टमार्टम के बाद शव को जला दिया गया। इस दौरान पशु चिकित्साधिकारी झनकट कोमल सिंह, डिप्टी रेंजर सतीश रेखाड़ी, फॉरेस्टर संतोष भंडारी, वीरेंद्र सिंह, डिगर राम, आरडी वर्मा, मनोज बिष्ट, जयदीप जोशी, अली हसन आदि मौजूद रहे।

गुलदार के सभी अंग सुरक्षित मिले

गुलदार के सभी अंग सुरक्षित मिले हैं। पशु चिकित्सक संजीव शर्मा ने बताया कि दूसरे जानवर के हमले में गुलदार का पेट फट गया था। उसके शरीर पर सामने के हिस्से में भी हमले के निशान थे। शव के साथ किसी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की गयी थी।

पानी की तलाश में बाघ के क्षेत्र में घुस गया था गुलदार

वन क्षेत्राधिकारी सुरई आरके मौर्य ने बताया कि घटनास्थल के पास पानी का तालाब है। संभावना है कि गुलदार यहां पानी पीने आया होगा और यहां बाघ के हमले का शिकार हो गया। उन्होंने कहा कि यहां गुलदार के साथ बाघ भी दिखायी देते हैं। मौर्य ने बताया कि बीते पांच वर्षों में जंगली जानवरों के बीच संघर्ष में वन्यजीव की मौत का यह पहला मामला है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Five year old male bouquet dies in mutual conflicts