DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसान बोले, सितारगंज चीनी मिल शुरू करें

मझोला के गन्ना विकास समिति कार्यालय में किसानों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में किसानों ने सितारगंज चीनी मिल के बंद होने के बाद किसानों के सामने आ रही समस्याओं पर चिंता जताई। बैठक की अध्यक्षता किसान नेता प्रकाश तिवारी ने की। उन्होंने कहा कि किसानों ने अपने खेतों में इस बार जो गन्ना लगाया है वह अगले सीजन में पककर तैयार हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में करीब 200 लाख क्विंटल गन्ने की पैदावार होने का अनुमान है। ऐसे में अगर अगले वर्ष सितारगंज चीनी मिल को पेराई के लिए नहीं शुरू किया जाता है तो खेतों में खड़ा किसानों का गन्ना बर्बाद हो जाएगा और किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। किसानों ने बताया कि सितारगंज चीनी मिल बंद होने के बाद किसानों के सामने आर्थिक संकट गहरा गया है। किसानों ने कहा कि वह अपनी समस्याओं को लेकर जल्द मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे। इस दौरान गन्ना चेयरमैन बलविंदर सिंह, मनमोहन सिंह, नितिन रस्तोगी, रामधार, लखविंदर सिंह, कश्मीर सिंह, पलविंदर सिंह, इकबाल सिंह, प्रीतपाल सिंह, गुरुदयाल सिंह, जगत सिंह, महताब आलम, सुभाष, किरन तलवार आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:farmers says open sitarganj sugar mill