DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनसीईआरटी पुस्तकें अनिवार्य करने और वार्षिक शुल्क बंद करने की मांग

नगर पालिका अध्यक्ष व वार्ड सभासदों ने एसडीएम को मांग पत्र सौंपकर सभी निजी विद्यालयों में एनसीईआरटी पुस्तकें अनिवार्य रूप से लागू करने की मांग की। वहीं उन्होंने निजी विद्यालयों में वार्षिक शुल्क के नाम पर लिया जा रहा देय रोकने की मांग की। सोमवार को पालिकाध्यक्ष हरीश दुबे के नेतृत्व में सभासद रवि रस्तोगी, प्रमोद रावत व सचिन गंगवार, जिलानी अंसारी, अकरम बेग, विक्की गुप्ता, दीपक चौहान ने एसडीएम को मांग पत्र सौंपा। पालिकाध्यक्ष के अनुसार हाईकोर्ट व शासन ने सभी विद्यालयों को एनसीईआरटी पुस्तकें अनिवार्य रुप से लागू करने के आदेश दिये हैं। इसके बाद भी निजी विद्यालय निजी प्रकाशकों की पुस्तकें खरीदवाने का दबाव डाल रहे हैं। यही नहीं कई विद्यालयों में वार्षिक शुल्क लिया जा रहा है। जो नियम विरुद्ध है। आरोप लगाया कि कई विद्यालयों ने फीस में भी भारी बढ़ोतरी की है। उन्होंने एनसीईआरटी पुस्तकें अनिवार्य रूप से चलाने, वार्षिक शुल्क रोकने व फीस वृद्धि वापस लेने की मांग की। पालिकाध्यक्ष ने चेतावनी दी कि प्रशासन व शिक्षा विभाग ने त्वरित कार्यवाही नहीं की तो आंदोलन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Demand for NCERT books mandatory