DA Image
25 नवंबर, 2020|1:30|IST

अगली स्टोरी

20 सूत्रीय मांगों को लेकर भाकपा ने किया प्रदर्शन

default image

किसानों से जुड़ी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने गल्ला मंडी में मोदी सरकार के खिलाफ नाराजगी जताते हुए प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में जहां रोजगार ठप पड़े हैं, वहीं किसानों की माली हालत ठीक नहीं है। ऐसे में सरकार को किसानों सहित गरीब जनता को राहत देने की कोशिश करनी चाहिए ना कि उन पर आर्थिक बोझ डाला जाए। उन्होंने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर मांगे पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। वक्तओं ने कहा कि कोरोना के चलते किसान, व्यापारी और प्राइवेट नौकरी करने वालों को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस संकट की घड़ी में भारत सरकार को 7500 रुपये प्रतिमाह गरीबों के खाते में डाल कर उनकी आर्थिक मदद करनी चाहिए। इसके साथ ही जरुरतमंद परिवार को छह माह तक दस किलो अनाज देने, मनरेगा में काम की अवधि को बढ़ाते हुए 200 दिन करने, मजदूरों के हित बहाली को ठोस कदम उठाने, पब्लिक हेल्थ पर खर्च जीडीपी का कम से कम तीन फीसदी बढ़ाने, मजदूर कानून बदलाव को समाप्त करने, पीएम केयर फंड की जमा धनराशि को राज्य सरकारों को देने आदि की मांग की गई। इस मौके पर जिला सचिव राजेंद्र सिंह,सुखदेव सिंह,लखविंदर सिंह,माशूक सिंह,मंजीत सिंह,अवतार सिंह आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CPI demonstrated on 20 point demands