ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड रुद्रपुरपिता को मरा मान अज्ञात का कर दिया अंतिम संस्कार, तीन दिन बाद लौटा

पिता को मरा मान अज्ञात का कर दिया अंतिम संस्कार, तीन दिन बाद लौटा

खटीमा में एक रोचक मामला सामने आया है। इसमें परिजनों ने एक अज्ञात के शव की शिनाख्त अपने पुत्र के रूप में की और उसका शव लाकर अंतिम संस्कार कर दिया।...

पिता को मरा मान अज्ञात का कर दिया अंतिम संस्कार, तीन दिन बाद लौटा
हिन्दुस्तान टीम,रुद्रपुरWed, 29 Nov 2023 11:45 PM
ऐप पर पढ़ें

खटीमा में एक रोचक मामला सामने आया है। इसमें परिजनों ने एक अज्ञात के शव की शिनाख्त अपने पुत्र के रूप में की और उसका शव लाकर अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं पुत्र तीन दिन बाद वीडियो कॉल कर बोला की वह तो जिंदा है। बुधवार को परिजन रुद्रपुर जाकर उसे घर लेकर आए। अब घर में एक ओर जहां खुशी का माहोल है, वहीं इस बात को लेकर कौतुहल है कि जिसका अंतिम संस्कार कर दिया वह कौन था। अखिर इतनी बड़ी चूक किस स्तर पर हो गई। जहां पुलिस, अस्प्ताल प्रशासन और परिजन भी धोखा खा गए।
धर्मानंद भट्ट का 42 वर्ष पुत्र नवीन भट्ट जो कि अज्ञात कारणों के चलते परिवार और बच्चों से काफी समय से अलग रहता था और उसका पता ठिकाना भी घर वालों को ठीक से मालूम नहीं था। 25 नवंबर को कोतवाली से सूचना मिली कि सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में बीमारी के चलते नवीन भट्ट की मौत हो गई है। सूचना मिलते ही धर्मानंद भट्ट, केशव भट्ट और अन्य ग्रामीण शव को लेने हल्द्वानी चले गए। परिवार वालों ने शव की शिनाख्त नवीन भट्ट के रूप में की।

26 नवंबर को शारदा घाट बनबसा में विधि विधान के साथ अज्ञात शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। संस्कार के बाद घर पर क्रिया चल रही थी। नातेदार रिश्तेदार शोक व्यक्त करने घर आ रहे थे। तीन दिन बाद 29 नवंबर को नवीन के भाई केशव दत्त भट्ट जो कि रुद्रपुर में एक होटल चलाता है। उसके मित्र का फोन आया कि होटल बंद क्यों है। केशव ने बताया कि उसके भाई की मौत हो गई है। उसकी क्रिया चल रही है इसी लिए होटल बंद है। मित्र ने फोन पर बताया कि उसके भाई नवीन को तो उन्होंने अभी देखा है। यकीन न हो तो वह वीडियो कॉल करा देगा। केशव के मित्र ने नवीन के साथ वीडियो कॉल कराई। वीडियो कॉल में बात होने के बाद परिवार के लोग तत्काल रुद्रपुर को रवाना हुए। शाम के समय नवीन जब घर पहुंचा तो घर में खुशी का माहोल है। परिवार वालों को यकीन ही नहीं हो रहा कि नवीन वापस आ गया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें