congressmen corner government over nrc issue in uttarakhand - कुमाऊं में एनआरसी का मुद्दा गरमाया DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुमाऊं में एनआरसी का मुद्दा गरमाया

प्रदेश के मुख्यमंत्री के एनआरसी के मुद्दे पर दिए गए बयान पर आज कुमाऊं में बसे तमाम बंगालियों ने विरोध किया। पूर्व विधायक एवम कांग्रेसी नेता प्रेम नन्द महाजन ने तमाम जनप्रतिनिधियों के साथ प्रेस वार्ता कर एनआरसी का पुरजोर विरोध किया। उनका कहना है कि उक्त मामले में कुमाऊं में बसे तमाम बंगालियों का उत्पीड़न होना निश्चित है।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक प्रेमानंद महाजन के नेतृत्व में तमाम कांग्रेसियों एवं बंगाली जनप्रतिनिधियों ने प्रेस वार्ता कर कहा कि । प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश में एनआरसी लागू करने का बयान जारी किया है। उन्होंने कहा विभाजन के समय बांग्लादेश से आये तमाम शरणार्थियों को तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, असम सहित तमाम राज्यों में बंगालियों को बसाया था और ये सभी यहां पर बसने वाले लोग हिन्दू हैं ।

1951 में बसाया गया और आज एनआरसी के माध्यम से वह लोग अपने आप को भारतीय होना कैसे साबित करेंगे । कई पीढ़ी गुजर चुकी हैं लिहाजा दस्तावेज होना नामुमकिन है। और इसी कारण बंगालियों का उत्पीड़न होना तय है । उन्होंने कहा उधम सिंह नगर में बसे तमाम बंगालियों को टारगेट करना उचित नही है । कांग्रेसी नेता निखिल बढ़ाई का कहना था कि बंगालियों का यदि प्रदेश में उत्पीड़न होता है तो बर्दाश्त नही किया जाएगा । वहीं वार्ता में डॉ जे एन सरकार ने कहा कि हम हिन्दू हैं और हिंदुस्तान में रहते हैं यदि कल को उन्हें यह कहा जाए कि आप बांग्लादेशी हो तो यह ठीक नही है। सभी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री को एनआरसी के मुद्दे पर पुनः विचार करने को कहा है। इस मौके पर आशुतोष राय, डॉ नारायण हालदार, निखिल बढ़ाई, डॉ जेएन सरकार सहित तमाम बंगाली जनप्रतिनिधि सामिल रहे ।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:congressmen corner government over nrc issue in uttarakhand