ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड रुद्रपुरसाहित्यिक चर्चाओं के साथ किताब कौतिक का समापन

साहित्यिक चर्चाओं के साथ किताब कौतिक का समापन

नानकमत्ता, संवाददाता। किताब कौतिक के तीसरे दिन बर्ड वॉचिंग से शुरुआत हुई। रामनगर से राजेश भट्ट ने बर्ड वॉचिंग और डाबर के पूर्व निदेशक डॉ. बीएस...

साहित्यिक चर्चाओं के साथ किताब कौतिक का समापन
हिन्दुस्तान टीम,रुद्रपुरSun, 03 Dec 2023 07:00 PM
ऐप पर पढ़ें

नानकमत्ता, संवाददाता। किताब कौतिक के तीसरे दिन बर्ड वॉचिंग से शुरुआत हुई। रामनगर से राजेश भट्ट ने बर्ड वॉचिंग और डाबर के पूर्व निदेशक डॉ. बीएस कालाकोटी ने पारंपरिक जड़ी-बूटियों के बारे में बताया।
गुरुनानक देव स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्रांगण में साहित्यिक सत्र का आयोजन किया गया और क्रीड़ा स्थल में स्टॉल लगे। पूर्व स्वास्थ्य निदेशक डॉ. एलएम उप्रेती के नेतृत्व में रक्तदान, अंगदान और शरीर विज्ञान के बारे में जानकारी दी गई। साहित्यिक सत्र में प्राथमिक शिक्षा में बाल साहित्य का महत्व के बारे में डॉ. अशोक पंत और व्यक्तित्व विकास में रंगमंच के महत्व के बारे में कुमार कैलाश ने जानकारी दी। महाविद्यालय के बच्चों ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। आरके माटा पब्लिक स्कूल के छात्रों ने गिद्दा प्रस्तुत किया गया। एकल नृत्य में सुनीता जोशी और शिवांगी जोशी ने पहाड़ी लोकनृत्य किया। साहित्यिक चर्चा में दिनेश कर्नाटक, सिद्धेश्वर सिंह, किरण अग्रवाल, शशांक शुक्ला मौजूद रहे। विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इसमें क्विज, निबंध प्रतियोगिता, ऐंपण कला प्रतियोगिता, इवेंट फोटोग्राफी प्रतियोगिता और भाषण प्रतियोगिता शामिल रही। धार्मिक डेरा कार सेवा के जत्थेदार बाबा तरसेम सिंह ने साहित्यकारों, विशेषज्ञों व अतिथियों को सिरोंपा व स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। इसी के साथ किताब कौतिक का समापन हो गया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें