DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खटीमा में एपीओ समेत पांच वकीलों पर मुकदमा

एपीओ और अधिवक्ताओं में मारपीट के मामले में पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। खटीमा कोर्ट परिसर में एपीओ, अधिवक्ता के बीच मारपीट के मामले पर पुलिस ने एपीओ गुलाब सिंह की तहरीर पर पांच अधिवक्ताओं के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने, जान से मारने की कोशिश और एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। अधिवक्ता लाला राम की तहरीर पर पुलिस ने एपीओ पर जान से मारने की कोशिश समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।22 मई को अधिवक्ता लाला राम के साथ एपीओ गुलाब सिंह ने मारपीट हो गई थी। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर मारपीट का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। इस पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दिया था। 29 मई को दोबारा कोर्ट परिसर में एपीओ और वकीलों में मारपीट हो गई थी। इसमें एपीओ गुलाब सिंह ने आरोप लगाते हुए कुछ अधिवक्ता को कार्यालय में घुसकर गला दबाकर जान से मारने का प्रयास करने, सरकारी काम में बाधा और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। अधिवक्ता लाला राम ने भी एपीओ पर उनके ऊपर कार चढ़ाकर जान से मारने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी। अधिवक्ता एपीओ के खिलाफ कार्रवाई को लेकर आंदोलनरत रहे। खटीमा न्यायालय से एपीओ को हटाने के निर्देश के बाद अधिवक्ताओं ने आंदोलन स्थगित कर दिया। पुलिस ने 29 मई को हुई मारपीट के मामले में दोनों पक्षों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल चचंल शर्मा ने बताया कि एपीओ की तहरीर पर अधिवक्ता प्रवेश, कविन्द्र कफलिया, लाला राम, हरीश दूबे व शाहाना तथा अधिवक्ता लाला राम की तहरीर पर एपीओ गुलाब सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5 advocates and lawsuits filed against APO