DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीएम कार्यालय से 141 शस्त्र फाइल लौटाई

शस्त्र लाइसेंस के लिए डीएम कार्यालय पहुंची 141 फाइलों को शस्त्र प्रशिक्षण प्रमाण पत्र न होने पर लौटा दिया गया है। एसएसपी कार्यालय पहुंची इन फाइलों को अब पुलिस महकमा संबंधित चौकियों में भेजने की तैयारी कर रहा है। बता दें कि शस्त्र रखना एक स्टेट्स सिंबल बन चुका है। जिले में करीब नौ हजार से अधिक शस्त्र लाइसेंस धारक हैं। इसके अलावा भी सैकड़ों लोग रोजाना ही शस्त्र लाइसेंस के लिए एसएसपी और डीएम कार्यालय में आवेदन करते हैं। बीते दिनों जारी शासनादेश में आयुध नियम 2016 के तहत धारा 10 में स्पष्ट किया गया है कि शस्त्र आवेदक को शस्त्र चलाने का प्रमाणपत्र प्राधिकृत शस्त्र प्रशिक्षण संस्थान से प्राप्त करना आवश्यक है। इसके बाद जिले में भी शस्त्र लाइसेंस लेने से पहले आवेदक को शस्त्र प्रशिक्षण प्रमाण पत्र लेना आवश्यक कर दिया गया था। ऐसे में अब आवेदन करने से पहले लोगों को शस्त्र प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी आवेदन में लगाना आवश्यक हो गया है। इधर, पुलिस अधिकारियों के मुताबिक बिना प्रशिक्षण प्रमाण पत्र के डीएम कार्यालय पहुंची 141 शस्त्र लाइसेंस को डीएम ने वापस एसएसपी कार्यालय भेज दी है। अब इन शस्त्र लाइसेंस को एसएसपी कार्यालय से संबंधित चौकियों को भेजा जा रहा है। ताकि आवेदक अपने शस्त्र आवेदन में शस्त्र प्रशिक्षण प्रमाण पत्र लगा सकें। एसएसपी डा.सदानंद दाते ने बताया कि शस्त्र आवेदन के लिए प्रशिक्षण प्रमाण पत्र अनिवार्य हो गया है। बिना शस्त्र प्रशिक्षण प्रमाण पत्र के करीब 141 शस्त्र फाइल वापस आई हैं। उन्हें संबंधित चौकियों को भेजा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:100 weapon files returned from DM office