Security of passengers on glacier point in Kedarnath foot road - केदारनाथ पैदल मार्ग में ग्लेशियर प्वाइंट पर हुई यात्रियों की सुरक्षा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केदारनाथ पैदल मार्ग में ग्लेशियर प्वाइंट पर हुई यात्रियों की सुरक्षा

केदारनाथ पैदल मार्ग में ग्लेशियर प्वाइंट पर अब तीर्थयात्रियों को ज्यादा दिक्कतें नहीं होंगी। जिलाधिकारी के निर्देशों पर इन प्वाइंट में ऊपरी तरफ से बटिया बनाई गई है ताकि ऊपर से आने वाला पत्थर और बर्फ का टुकड़ा सीधे पैदल मार्ग पर न आए, बल्कि पहले इस बटिया पर गिर जाए और किसी तरह यात्रियों को कोई नुकसान न उठाना पड़ा। जिला विकास प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के सहयोग से यह कार्य किया गया।बताते चलें कि केदारनाथ यात्रा में 11 मई 2019 को लिंचौली से 50 मीटर आगे केदारनाथ की ओर पंजाब की 27 वर्षीय ओजोशी की पत्थर गिरने से मौत हो गई। जबकि 22 मई को केदारनाथ जाते हुए रामबाड़ा पुल के समीप शाहदरा दिल्ली के 32 वर्षीय प्रदीप पालीवाल पैर फिसलने से मंदाकिनी नदी में गिर गए और अब तक लापता हैं। 27 मई को लिंचौली से 5 सौ मीटर नीचे गौरीकुंड की ओर आते हुए पत्थर लगने से शांनगोलापुरा गुजरात निवासी 55 वर्षीय गोहेल भावनाबेन की मौत हो गई। गुजरात निवासी 36 वर्षीय डॉ उमेश परमार की छोटी लिंचौली में घोड़े में फिसलकर गिरने से रीढ़ की हड्डी टूट गई। पत्थर गिरने से यात्रियों को रहे नुकसान को देखते हुए जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने पैदल मार्ग का निरीक्षण किया और इसके समाधान के लिए डीडीएमए को निर्देशित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Security of passengers on glacier point in Kedarnath foot road