DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › रुद्रप्रयाग › जीजाजी बनकर युवती से ठगे 50 हजार पुलिस की साइबर सैल ने लौटाए
रुद्रप्रयाग

जीजाजी बनकर युवती से ठगे 50 हजार पुलिस की साइबर सैल ने लौटाए

हिन्दुस्तान टीम,रुद्रप्रयागPublished By: Newswrap
Sun, 01 Aug 2021 04:50 PM
जीजाजी बनकर युवती से ठगे 50 हजार पुलिस की साइबर सैल ने लौटाए

रुद्रप्रयाग जिले की एक युवती को दूर के रिश्ते का जीजा बताकर 50 हजार रुपये की साइबर ठगी कर ली गई। सूचना पर पुलिस की साइबर सेल ने संबंधित बैंक से संपर्क कर मोबाइल वॉलेट से रुपये ट्रांसफर होने से रुकवा लिए। जो रकम युवती के खाते में वापस कर ली गई।

युवती को 30 जुलाई की शाम एक नए नम्बर से फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को युवती का जीजा बताया और कहा कि वह उसके खाते में कुछ पैसे भेज रहा है। उसने पूरी विश्वास के साथ बात की ताकि युवती को कोई भी शक न हो। बातों के दौरान ही उसने युवती से उसका ओटीपी ले लिया और कुछ देर में युवती के खाते से दो बार 20 हजार और एक बार 10 हजार रुपये कुल 50 हजार रुपये की रकम कट गई। खाते से पैसे निकलते ही युवती ने साइबर क्राइम पोर्टल पर शिकायत की। जो जांच के लिए रुद्रप्रयाग जिले को दी गई। साइबर सेल में नियुक्त आरक्षी राकेश रावत द्वारा 31 जुलाई को इस सम्बन्ध में इस युवती से वार्ता की। साथ ही संबंधित एप यानि फोन पे के गेटवे से आनलाइन पत्राचार किया। तब तक पैसे ठग के फोन पे के वॉलेट में ट्रान्सफर हुए थे। यहां से यह रकम किसी अन्य खाते में ट्रांसफर नहीं हुई थी। रुद्रप्रयाग पुलिस साइबर सैल की त्वरित कार्यवाही से फोन पे वॉलेट में गए 50 हजार रुपये की धनराशि युवती के खाते में वापस दिला दी गई। पुलिस ने युवती से इतनी अधिक धनराशि उनके खाते में होने को लेकर जानकारी ली तो, उसने बताया कि उनके पिता द्वारा दिन-रात मेहनत कर यह धनराशि कॉलेज की फीस के लिए खाते में डाली गई थी जिसे ठग द्वारा ठग लिया गया था। युवती ने बताया कि ठग ने जिन दीदी व जीजा के नाम से यह किया वह उनके दूर के रिश्ते में हैं। रुद्रप्रयाग पुलिस ने जनता को साइबर अपराध के प्रति सजग करते हुए कहा कि फोन पर कोई भी बैंक आदि को लेकर जानकारी मांगे तो उसे बिना बैंक गए किसी भी दशा में न दें। साथ ही पूरी तरह सतर्क रहें।

संबंधित खबरें