DA Image
30 अक्तूबर, 2020|1:22|IST

अगली स्टोरी

बरेली शरीफ से जायरीनों का जत्था झंडा लेकर कलियर पहुंचा

default image

साबिर पाक के 752 वें सालाना उर्स में हर साल की तरह इस साल भी बरेली शरीफ से झंडा कलियर शरीफ पहुंचा। झंडा लेकर पहुंचे अकीदतमन्दों का फूलमालाओं स्वागत किया गया। सज्जादा नशीन शाह मंसूर ऐजाज साबरी कुद्दुसी की सरपरस्ती में शाह अली ऐजाज साबरी ने दरगाह साबिर के बुलन्द दरवाजे पर फहराकर झंडा कुशाई (फहराना)की रस्म अदा की गई।

पिरान कलियर दरगाह साबिर पाक के 752 वें सालाना उर्स की पहली रस्म झंडा कुशाई अदा की गई। हर साल सैकड़ों लोग जत्थे के रूप में बरेली शरीफ से पैदल झंडा लेकर आते हैं। इस बार कोरोना महामारी के चलते मात्र 11 लोगों का जत्था बरेली से आया। यह दल 14 अक्टूबर को सूफी वसीम साबरी की सरपरस्ती में रवाना हुआ था। सूफी वसीम साबरी के साथ कमाल साबरी, हसन साबरी, अजीज अहमद साबरी, सादिक साबरी, नईम साबरी, अतीक साबरी, इमरान साबरी जत्थे में शामिल रहे। कलियर पहुंचने पर नायब सज्जादा नशीन शाह अली एजाज साबरी ने झंडे के साथ आए अकीदतमंदों का फूल मालाओं के साथ स्वागत किया।

सज्जादा नशीन शाह मंसूर ऐजाज साबरी कुद्दुसी की सरपरस्ती में नायब सज्जादानशीन शाह अली ऐजाज साबरी ने झंडे को दरगाह साबिर के बुलन्द दरवाजे पर फहराकर झंडा कुशाई (फहराना)की पहली रस्म अदा की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Zaire 39 s batch arrived in Kaliyar from Bareilly Sharif