DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › रुड़की › खानपुर की ढाई हजार महिलाओं ने अपनाया स्वरोजगार
रुडकी

खानपुर की ढाई हजार महिलाओं ने अपनाया स्वरोजगार

हिन्दुस्तान टीम,रुडकीPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 08:40 PM
खानपुर की ढाई हजार महिलाओं ने अपनाया स्वरोजगार

वो दिन गए जब महिलाएं घर के चूल्हे चौके तक ही सीमित रहती थी। अब शहर ही नहीं, गांवों की महिलाएं भी घर से बाहर निकलकर न सिर्फ खुद बल्कि दूसरों को भी रोजगार दे रही हैं। अकेले खानपुर ब्लॉक में ढाई हजार महिलाएं राष्ट्रीय गामीण आजीविका मिशन से जुड़कर आत्मनिर्भर बन चुकी हैं।

महिलाओं को रोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार एनआरएलएम चला रही है। इसके तहत कम से कम दस महिलाओं का एक समूह बनाकर उन्हें स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है। प्रशिक्षण के बाद सरकार उन्हें काम-धंधा शुरू करने के लिए आर्थिक मदद भी मुहैया कराती है। देहात की महिलाएं भी बड़ी संख्या में इन समूहों से जुड़कर अपने परिवार को आगे बढ़ा रही हैं।

खानपुर में भी करीब ढाई हजार महिलाएं विभिन्न समूहों से जुड़कर स्वरोजगार चला रही हैं। पूजा समूह चला रही खानपुर की शारदा, संगीता ने बताया कि उनका समूह एनआरएलएम की आर्थिक मदद से साबुन बना रहा है। शुरू में साबुन की बिक्री नहीं थी। इसके बाद मिशन के अधिकारियों ने मार्केटिंग में भी सहायता की। अब उनका समूह अच्छा मुनाफा कमा रहा है।

मुस्कान समूह से करीब पंद्रह महिलाएं जुड़ी हुई हैं। समूह की बेबी व बबली ने बताया कि उन्हें शुरू में सरकार से 15 हजार का फंड मिला था। इससे उन्होंने कपड़े सिलकर बेचने का काम शुरू किया था। आज धंधा काफी बढ़ा है। इस अनुपात में उनका समूह कमाई भी कर रहा है।

-----

खानपुर ब्लॉक में 260 समूह एक्टिव हैं। इनमें से 16 समूहों को एक लाख दस हजार का दूसरा सीआईएफ फंड भी दिलाया जा चुका है।

विशाल शर्मा ब्लॉक मिशन प्रबंधक

-----

खानपुर में समूह मसाले, पापड़, अचार, चटनी, डिटर्जेंट पाउडर तैयार कर रहे हैं। इनके उत्पाद बेचने में भी विभाग सहायता कर रहा है।

पवन सैनी, बीडीओ, खानपुर

संबंधित खबरें