DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुल्क की सलामती को उठे हजारों हाथ

मुल्क की सलामती को उठे हजारों हाथ

मजान के पहले जुमे की नमाज अदा करने को रोजेदारों की भीड़ नगर और देहात की मस्जिदों में उमड़ पड़ी। हजारों नमाजियों ने अल्लाह अताला से मुल्क में शांति की दुआ मांगी। इससे पूर्व बच्चों ने अपने वालिद के साथ कलाए ए पाक, टोपी और गमछे की खरीदारी की। अहतियात के तौर पर मस्जिदों के पास पुलिस की कड़ी चौकसी रही। माह ए रमजान के पहले जुमे को शहर और ग्रामीण क्षेत्र की सभी मस्जिदों में हजारों रोजेदारों ने नमाज अदा की है। नगर की जामा मस्जिद में जोहर की नमाज को दोपहर एक बजे से ही लोगों का हूजुम मस्जिद में जुटना शुरू हो गया, जो 1.30 बजे तक जारी रहा। मस्जिद में पहुंचकर नमाजियों ने पहले खुतबा सुना। इसके बाद हजारों लोगों ने नमाज अदा कर अल्लाह की बंदगी की और अमन में शांति की दुआ मांगी। इस दौरान छोटे बच्चे भी पीछे नहीं रहे। उन्होंने भी हाथ उठाकर दुआ मांगी। बच्चों ने वालिद के साथ जाकर दुकानों से टोपी, गमछे आदि सामान की खरीदारी की।जामा मस्जिद में नमाज कारी हबीबुल्लाह और मौलाना अजहरुल हक ने कहा कि केवल रोजा रखना या नमाज पढ़ना ही इस्लाम का हिस्सा नहीं है बल्कि सच्चाई, ईमानदारी, हलाल से रोजी कमाना, पड़ोसी चाहे किसी धर्म से हो उसका ख्याल रखना। क्योंकि यह वह महीना है इसमें पवित्र कुरान शरीफ नाजिल हुआ। सिविल लाइंस मस्जिद के कारी जावेद आलम ने रोजेदारों को रोजे की महत्ता बताई। दिन की पांच वक्त की नमाज पढ़ना औरत और मर्द का फर्ज है। उन्होंने कहा कि इस पाक रमजान में नेकियों, भलाइयों का अर्ज 70 गुणा बढ़ा दिया जाता है। रमजान का हर एक दिन विशेष महत्ता रखता है। लेकिन पहला असरा अल्लाह की रहमतों का, दूसरा अशरा मगफिरत का और तीसरा अशरा नरक से बचने का है। इनके साथ ही अन्य मौलाना व मुफ्ती ने रोजेदारों को अल्लाह की रहमतों के बारे में बताया। साथ ही दुखियों की मदद करने को कहा। इस दौरान इमरान देशभक्त सहित अन्य लोग मौजूद रहे। नमाज के दौरान पुलिस की रही कड़ी चौकसी जुमे की नमाज को लेकर पुलिस ने शहर और देहात की सभी मस्जिदों पर पुलिस की पैनी नजर रही। अलग-अलग समय पर मस्जिदों में होने वाली नमाज से पूर्व ही पुलिस ने सुरक्षा की पुख्ता इंतजाम किए। नमाज के दौरान पुलिस ने सिविल लाइंस स्थित मस्जिद का रास्ता ब्लॉक कर बीएसएनएल मार्ग से लोगों को निकाला। नमाजियों ने सड़क पर टैंट लगाकर अल्लाह अताला की बंदगी की। काफी देर तक मार्ग अवरुद्ध होने से राहगीरों को दूसरे रास्ते से होकर गुजरना पड़ा। 000इन मस्जिदों में पढ़ी नमाज: जामा मस्जिद, सिविल लाइंस मस्जिद, आईआईटी मस्जिद, सफर मैना मस्जिद, शेख बेंचा मस्जिद, मोती मस्जिद, साबरी मस्जिद, मस्जिद लोहारान, नूर मस्जिद, गफूरिया मस्जिद, मरकज वाली मस्जिद, आयशा मस्जिद, पठानपुरा मस्जिद, झोझे वाली मस्जिद, हुसैनिया मस्जिद, मस्जिद हव्वा, मदीना मस्जिद, आजादनगर और गुलाब नगर मस्जिद में भारी भीड़ रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thousands of arms raised to the good of the nation