DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नगर निगम के वार्डों के परिसीमन का काम लटका

नगर निगम के वार्डों का परिसीमन का काम लटक गया है। अब तक निगम सीमा विस्तार का मामला ही नहीं सुलझा है। परिसीमन का काम नहीं होने से निकाय की राजनीति करने वालों की बेचैनी भी बढ़ने लगी है।रुड़की नगर निगम का अक्तूबर 2015 में सीमा विस्तार किया गया था। शहर से लगे आठ गांवों को निगम में शामिल किया गया। अगले साल निकाय के चुनाव होने हैं। इससे पहले वार्डों का परिसीमन होना है। निगम ने करीब दो माह पहले इसकी कवायद भी शुरू कर दी थी। लेकिन अब मामला अटक गया है। नगर निगम सीमा विस्तार और पुनर्गठन का मामला विभिन्न स्तरों पर लंबित पड़ा हुआ। नगर निगम बोर्ड ने शिवम विहार कॉलोनी को निगम में शामिल करने का प्रस्ताव शासन को भेजा था। अब तक यह प्रस्ताव भी अटका है। सीमा विस्तार पर स्थिति साफ नहीं होने के कारण वार्डों का परिसीमन का काम शुरू नहीं हो पा रहा है। निगम का चुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं में इससे बेचैनी बढ़ने लगी है। 000बढ़ने हैं शहर में वार्ड रुड़की निगम में फिलहाल बीस वार्ड हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार निगम की आबादी करीब 1.95 लाख है। निगम में वार्डों की संख्या बढ़कर तीस होनी थी। जानकार बता रहे हैं कि निगम में चालीस वार्ड तक हो सकते हैं।000बाहर हो सकते हैं रामनगर-पाडली गुर्जरसियासी हलकों में जो चर्चा चल रही है उसमें रामपुर और पाडली गुर्जर को निगम से बाहर कर अलग से निकाय बनाने की बात कही जा रही है। यह चर्चा निकाय की राजनीति में बेहद तेज है। हालांकि, निगम के स्तर से इसका कोई प्रस्ताव नहीं गया है। केवल शिवम विहार को निगम में शामिल करने का प्रस्ताव भेजा गया है।000शिवम विहार को निगम में शामिल करने का प्रस्ताव भेजा गया है। सीमा विस्तार के बाद वार्ड परिसीमन का काम शुरू किया जाएगा।राजेश नैथानी, प्रभारी नगर आयुक्त

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The work of delimitation of municipal wards