DA Image
1 अक्तूबर, 2020|9:30|IST

अगली स्टोरी

प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद सफाई कर्मियों की हड़ताल खत्म

default image

प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद पालिका के सफाई कर्मचारियों ने छह दिन से चली आ रही हड़ताल खत्म कर दी। वार्ता में पिछला भुगतान नहीं करने पर सफाई ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने और आगे का मानदेय पालिका से दिलाने पर सहमति बनी। इसके साथ ही एक सफाई नायक को निलंबित करने की बात भी कही गई।

नगर पालिका के सफाई कर्मचारी पिछले छह दिन हड़ताल पर थे। उनके समर्थन में नियमित कर्मचारी भी हड़ताल में शामिल हो गए थे। इस कारण नगर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई थी। जेएम नमामि बंसल ने तहसीलदार सुनैना राणा को मंगलौर भेजा। पालिका कार्यालय में सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधि मंडल तथा पालिका प्रशासन के साथ वार्ता शुरू कराई। इस मामले में ठेकेदार को भी बुलाया गया। पालिका प्रशासन ने तहसीलदार को बताया कि नगर पालिका द्वारा ठेकेदार को माह जुलाई व अगस्त का भुगतान पहले ही किया जा चुका है लेकिन ठेकेदार ने कर्मचारियों को रकम नहीं दी। इसके चलते हड़ताल की नौबत आई।

सफाई कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष विशाल बिरला की मौजूदगी में सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधि मंडल तथा पालिका प्रशासन के बीच वार्ता हुई।कहा गया कि सफाई कर्मचारी ठेकेदार के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। कहा कि अवशेष धनराशि का भुगतान पालिका की ओर से किया जाएगा। इसके अलावा एक सफाई नायक को निलंबित किए जाने, सफाई कर्मचारियों को उपनल के अनुसार मानदेय देने, हड़ताली कर्मचारियों का वेतन न काटने की शर्त पर समझौता हुआ। कर्मचारियों ने कहा कि पांच अक्तूबर तक भुगतान नहीं मिलने पर वह फिर से हड़ताल पर जा सकते हैं। बैठक में नगर पालिका अध्यक्ष हाजी दिलशाद अली, अधिशासी अधिकारी शाहिद अली, अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के अध्यक्ष सोहन सिंह, महासचिव विश्वास प्रेमी आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The strike of the cleaning workers ended after the administration 39 s intervention