ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड रुड़कीस्मैक पकड़ने खरीदार बनकर पहुंची पुलिस की टीम और फिर..

स्मैक पकड़ने खरीदार बनकर पहुंची पुलिस की टीम और फिर..

हरिद्वार के लक्सर के एक गांव में युवक द्वारा स्मैक बेचने की सूचना पर लक्सर कोतवाली पुलिस की टीम खरीदार बनकर आरोपी के घर पहुंच गई। लेकिन सौदा पटने से पहले ही आरोपी के परिवार के एक सदस्य को उन पर...

स्मैक पकड़ने खरीदार बनकर पहुंची पुलिस की टीम और फिर..
हिन्दुस्तान टीम, लक्सर Sun, 18 Jul 2021 07:56 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

हरिद्वार के लक्सर के एक गांव में युवक द्वारा स्मैक बेचने की सूचना पर लक्सर कोतवाली पुलिस की टीम खरीदार बनकर आरोपी के घर पहुंच गई। लेकिन सौदा पटने से पहले ही आरोपी के परिवार के एक सदस्य को उन पर पुलिसकर्मी होने का संदेह हो गया। इसके बाद पुलिस टीम को सौदा किए बिना बैरंग वापस लौटना पड़ा। गत दिवस मुखबिर ने लक्सर कोतवाली के एसएसआई मनोज सिरोला को सूचना दी थी कि बहादराबाद थाने की सीमा से सटे लक्सर के एक गांव का युवक बड़े स्तर पर स्मैक का कारोबार कर रहा है। इस पर एसएसआई ने युवक को रंगे हाथ पकड़ने के लिए योजना तैयार की। योजना के तहत सादे कपड़ों में पुलिस की एक टीम स्मैक की खरीदार बनी और मुखबिर द्वारा बताए गए गांव में पहुंच गई।

टीम लोगों से पूछकर आरोपी युवक के घर पहुंची और उससे बातचीत करने लगी। इसी दौरान युवक के घर के एक सदस्य को शक हुआ कि उनके घर पहुंचे लोग पुलिस के कर्मचारी हैं। उसने टीम के सामने ही अपना शक जाहिर कर दिया। शक होते ही आरोपी युवक ने भी खुद को मजदूर बताकर स्मैक का कारोबार करना तो दूर इसकी जानकारी होने से ही साफ इनकार कर दिया। इसके बाद स्मैक की खरीदार बनकर पहुंची पुलिस टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा। एसएसआई मनोज सिरोला ने बताया कि क्षेत्र में स्मैक के कारोबार का खुलासा करने के लिए मुखबिर तंत्र को पूरी तरह सक्रिय किया गया है। कई मामले पकड़े भी जा चुके हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें