DA Image
19 सितम्बर, 2020|11:44|IST

अगली स्टोरी

प्रो. आर्य की स्मृति में प्रोफेसरशिप की स्थापना

default image

आईआईटी रुड़की ने संस्थान के दिवंगत प्रोफेसर आनंद स्वरूप आर्या की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर उनके सम्मान और स्मृति में एक इंस्टीट्यूट चेयर प्रोफेसरशिप की स्थापना की घोषणा की। दिवंगत प्रो. की पत्नी कौशल्या देवी आर्या और उनके बच्चों अरुण, पूनम, अंजलि और अंशुली की ओर से दिए गए दान से इस चेयर की स्थापना की गई है। ताकि पेशेवर जीवन में डॉ. आर्या के योगदान आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करते रहें।

प्रो. आर्या का जन्म 13 जून 1931 को सहारनपुर के अंबेहटा गांव में हुआ था। प्रारंभिक शिक्षा के बाद उन्होंने रुड़की विवि (अब आईआईटी रुड़की) में प्रवेश लिया और 1953 में बीई, सिविल इंजीनियरिंग और 1954 में एमई, स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल की। अमेरिका में पीएचडी करने के बाद वह विवि लौट आए। उन्होंने भूकंप इंजीनियरिंग विभाग की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह 1971 में भूकंप इंजीनियरिंग विभाग के प्रमुख बने। 1988 में प्रो-वाइस-चांसलर बने। आईआईटी के निदेशक प्रो. एके चतुर्वेदी ने कहा कि आईआईटी परिवार डॉ. आर्य पर गर्व करता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Pro Establishment of Professorship in memory of Arya