DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांवड़ियों के सेवार्थ चिकित्सा शिविर लगाया

कांवड़ियों के सेवार्थ चिकित्सा शिविर लगाया

संत सेवा समिति के 20वें निशुल्क कांवड़ चिकित्सा शिविर का शुभारंभ करते हुए श्रीगुरु गोरक्ष नाथ आश्रम के श्रीमहंत योगी मंगल नाथ ने कहा कि भगवान शिव की कृपा पाने के लिए कांवड़ यात्रा एक श्रेष्ठ माध्यम तो है ही कावड़ यात्रा का एक महत्व यह भी है कि यह हमारे व्यक्तित्व के विकास में सहायक होती है।

पंचशील काली मंदिर में संत सेवा समिति के 11 दिवसीय शिविर का उद्घाटन करते हुए योगी मंगलनाथ ने आयोजकों को इस सराहनीय कार्य के लिए बधाई देते हुए कहा कि कांवड़ सेवा से हमारे मन में एक ही ईश्वर की संतान होने के गर्व की अनुभूति के बीच संकल्प शक्ति और आत्मविश्वास जागता है। हम अपनी क्षमताओं को पहचान सकते हैं, अपनी शारीरिक शक्ति का अनुमान भी लगा सकते हैं। विशिष्ट अतिथि कैप्टन डीपी सिंह ने समिति के सेवाभाव की प्रसंशा करते हुए कहा कि पांव में छाले लिए और भोले का जयकारा लगाते कांवडियों को बरसात में अनेक शारीरिक कष्ट उठाने पड़ते हैं। ऐसे में भोले के भक्तों की सेवा का भी बड़ा पुण्य मिलता है। शिविर संयोजक देवेन्द्र वर्मा ने बताया कि कांवड़ मेले में वर्ष 1999 में एक कुर्सी मेज लगाकर आरंभ की गयी प्राथमिक चिकित्सा अब तक अनवरत जारी है और आज किसी भी प्रकार की सहायता के लिए तत्पर सेवादारों की बड़ी टीम के साथ कार्यरत हैं। इस दौरान महंत सागर नाथ, केपी सिंह, डॉ. एसपी सिंह, डॉ. मोहम्मद मुस्तकीम, अमित त्यागी, सेवक राम चावला, देवेन्द्र पाल, यथार्थ वर्मा, दिनेश माटा, मनोज अग्रवाल, अनिल गोयल, गोपाल किशन, सुनिल गुलाटी, पार्थ देव, मयंक गुलटी, श्रेयांश कपूर, प्रखर अग्रवाल, शिवम गोयल, नीलम शर्मा आदि उपस्थित रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Medical Camp was organized for the service of the colonists