DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड रुड़कीलॉकडाउन से सर्राफा कारोबारियों को करोड़ों का नुकसान

लॉकडाउन से सर्राफा कारोबारियों को करोड़ों का नुकसान

हिन्दुस्तान टीम,रुडकीNewswrap
Fri, 08 May 2020 03:54 PM
लॉकडाउन से सर्राफा कारोबारियों को करोड़ों का नुकसान

रुड़की सर्राफा एसोसिएशन ने एसडीएम को पत्र लिखकर शहर में सर्राफा की दुकानों खोलने की छूट मांगी है। एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि लंबे समय से दुकानें बंद होने के व्यापारियों को करोड़ों का नुकसान झेलना पड़ रहा है । एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय चौहान, व्यापार मंडल के पदाधिकारी अरविंद कश्यप और सर्राफा कारीगर संघ के नारायण ने शुक्रवार को एसडीएम से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। एसोसिएशन के अध्यक्ष ने बताया कि 24 मार्च को लॉकडाउन आरंभ होने से अब तक रुड़की सर्राफा बाजार को करोड़ों का नुकसान हो गया है। जिसके चलते जहां एक तरफ सर्राफा व्यापार चौपट होने की कगार पर पहुंच गया है वहीं दूसरी ओर आर्थिक तंगी भी सर्राफा व्यवसाय से जुड़े लोगों को होने लगी है। बताया कि सर्राफा व्यापार से जुड़े कारीगरों के परिवार भी आर्थिक तंगी का दंश झेल रहे हैं। उन्होंने बताया कि काफी मशक्कत के बाद कारीगरों के कुछ ही परिवारों को सरकारी राहत मिल पाई है। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने एसडीएम से मिलकर सर्राफा बाजार को भी अन्य दुकानों की तरह खोलने की अनुमति प्रदान करने की मांग की है। 000कारीगरों को गृह राज्य भेजने की मांगरुड़की सर्राफा एसोसिएशन ने एसडीएम को पत्र लिखकर सर्राफा की दुकानों में काम करने वाले कारीगरों को उनके गृह राज्य महाराष्ट्र और कोलकाता भेजने की मांग की है। एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय चौहान ने बताया कि सर्राफा व्यापार न चलने से सर्राफा कारीगर और उनके परिवार संकट में है। बताया कि प्रशासन को सूचित करने के बाद भी कुछ ही कारीगरों के परिवारों को सरकारी सहायता मुहैया कराई गई। ऐसे में यह परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच चुके हैं। अध्यक्ष ने सभी कारीगर परिवारों को उनके गृह राज्य भेजने की मांग भी एसडीएम से की है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें